कलश यात्रा के साथ हुआ श्रीराम कथा का शुभारंभ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, December 27, 2020

कलश यात्रा के साथ हुआ श्रीराम कथा का शुभारंभ

बांदा, के एस दुबे । शहर के संत तुलसी पब्लिक स्कूल में शनिवार 26 दिसम्बर से 5 जनवरी 2021 तक श्री रामकथा का महोत्सव का आयोजन किया गया है। जिसमें महेश्वरी देवी चैराहे से भव्य कलश यात्रा निकाली गई। जिसमें शहर के गणमान्य नागरिकों व महिलाओं के साथ-साथ सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी, पूर्व चेयरमैन  राजकुमार राज, वर्तमान पालिकाध्यक्ष मोहन साहू एवं अयोध्यावासी वैश्य मन्दिर के पदाधिकारी व विद्यालय स्टाफ ने प्रतिभाग किया।

इन्दिरा नगर स्थित कथा स्थल तक शोभा यात्रा में आगे-आगे कथावाचक श्री रामकृष्ण वेदान्ती जी महाराज चित्रकूट का विमान चल रहा था तथा आगे पीत वस्त्र धारण किये महिलाएं सिर पर कलश रखकर चल रही थी। शहर में जगह-जगह कलश यात्रा का स्वागत करते हुए फूल बरसाये गये। शोभा यात्रा से मानो ऐसा प्रतीत हो रहा था कि पूरा

श्रीराम कथा का बखान करते कथावाचक रामकृष्ण वेदांती

शहर भक्तिमय हो गया है। रविवार को सुबह रामायण का संगीतमय पाठ हुआ तथा उसके पश्चात गायत्री परिवार द्वारा पंच कुंडीय महायज्ञ का आयोजन किया गया। जिसमंे सभी महिला-पुरूषों ने आहूतियां देकर जन कल्याण की कामना की। इसके बाद सभी प्रसाद वितरण किया गया। कथा के प्रथम दिवस दोपहर 2 बजे से शुरू हुयी कथा में कथावाचक श्री वेदान्ती जी महाराज ने कहा कि रामकथा सिर्फ कथा नहीं है बल्कि यह जीवन का आधार है। इस कथा के श्रवण मात्र से ही जन्म जन्मांतर के पाप नष्ट हो जाते हैं। उन्होने कथा का महत्व बताते हुए कहा कि हर मनुष्य को रामकथा का श्रवण कर अपने जीवन में उसका आत्मसात करना चाहिए। भगवान श्री विष्णु ने त्रेतायुग में श्री राम के रूप में अवतार लेकर समस्त मानव जाति को यह संदेश दिया है कि मनुष्य जीवन इतना आसान नही हैं इसीलिए श्री राम जी को मर्यादा पुरूषोत्तम भी कहा जाता है क्योंकि उन्होने समस्त मानव जाति को मर्यादा का संदेश दिया है। 

कथा के आयोजक कुमार परिवार के श्री संत कुमार गुप्ता जी ने कहा कि प्रतिदिन कथा दोपहर 2 बजे से शायं 6 बजे तक चलेगी। जिसमें सभी लोग कथा श्रवण कर पुण्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यह कथा 9 दिनों तक चलेगी। इसके बाद दिनांक 05 जनवरी 2021 को विशाल भण्डारे का आयोजन किया जायेगा। प्रतिदिन प्रातः 07ः30 से 10ः30 तक नवान्ह मानस पाठ एवं गायत्री परिवार के सहयोग से हवन की भी व्यवस्था की गयी। जिसमें सभी भक्तजनों से आग्रह है कि वे इस पुण्य कार्य में शामिल हों।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages