लव पर जिहाद ना होने की चेतावनी...... - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, December 15, 2020

लव पर जिहाद ना होने की चेतावनी......

देवेश प्रताप सिंह राठौर 

(वरिष्ठ पत्रकार)

..................... प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जी योगी जी ने सख्त लहजे में कहा है लव के साथ जेहाद नहीं होने देंगे जो उत्तर प्रदेश के हित में होगा देश के हित में होगा वह हम निर्णय लेंगे और किसानों को समझाने हेतु ने कहा यह जो बिल माननीय नरेंद्र मोदी जी द्वारा पास किया गया है वह बिल किसानों के हित में है छोटे किसानों के हित में है सभी किसानों के हित में है यह किसान किसी की बातों में ना आए अपने विवेक से जानकारी प्राप्त करें ,यह बिल आपके अच्छाइयों के लिए लाया गया है। वैसे लव जिहाद का मामला बहुत पुराना है इस पर रोक लगनी चाहिए क्योंकि आज के माहौल में लोग जाति धर्म को बदलकर नाम रखते हैं जिससे भोले वाले बच्चे उनकी जाल में फंस जाते हैं और जब हकीकत पता चलती है तब बहुत देर हो चुकी होती है। इस तरह का षड्यंत्र करने वाले लोगों को कानून की तरफ से सख्त सजा मिलने की जरूरत है, और मुझे विश्वास है उत्तर प्रदेश से लेकर देश आज सुरक्षित हाथों में है। मैं किसी पार्टी का नहीं लेकिन सत्य बात लिखने में मैं डरता नहीं क्योंकि किसी व्यक्ति की बुराई करने से पहले कभी कभी उसकी अच्छाइयों पर भी प्रकाश डालना चाहिए कुछ लोग सिर्फ एक आईने से देखते हैं जिस कारण साइन बाग से लेकर आज किसानों का धरना प्रदर्शन जो चल रहा है उसमें किसान कम है व्यापारी और किराए के लाए गए टट्टू अधिक हैं पीछे से बांदल नक्सली आन देश विरोधी ताकतें हावी हो गई है जिस कारण किसान धरना प्रदर्शन में किसान की मांग होनी चाहिए ना कि खालिस्तान जिंदाबाद और जो देशद्रोही नेता जेल में बंद है उन्हें छुड़ाने की मांग कर रहे हैं । किसान अपनी किसान की बात रखेगा इन आतंकवादियों को छुड़ाने के लिए नहीं कहेगा उन्हें बुद्धिजीवी का नाम नहीं देगा उन्होंने सारी बुद्धि देश को तोड़ने में लगाई उनको किसान की आड़ में बुद्धिजीवी कह रहे हैं वाले लोग समझ चुके हैं सच्चाई एक दिन सामने देश की जरूर आएगी तब उनको समझ में आएगा पैसे किसान अब समझने लगा है जब तक के लिए बैठे थे किसान कौन से रिपोर्टर ने पूछा आप किस की तख्ती लिए हैं तो उन्होंने कहा हमें कुछ नहीं मालूम हमें यह पकड़ा दिया गया है। यह हाल है उन भोले-भाले किसानों का जिन की आड़ में देश के नक्सली से लेकर वामदल तक और बहुत से विपक्ष की पार्टियां मोदी सरकार को झुकाने हेतु पूरी ताकत लगा दी है और कह रहे हैं साइन बाग तो हाथ से निकल गया है लेकिन अब किसान धरना बाली कड़ी हमने मजबूत पकड़ ली है अब यही हमारी नैया को पार करेगा लेकिन ऐसा हो नहीं पाएगा देशद्रोही ताकते जिस तरह किसानों को बरगलाने में लगी हैं उससे स्पष्ट हो चुका है किसान आंदोलन सिर्फ हरियाणा और पंजाब तक सिमट कर रह गया है किसान तो देश के सभी राज्यों में मौजूद है पर वहां पर उन्होंने कोई धरना प्रदर्शन नहीं किया सिर्फ पंजाब हरियाणा के किसानों को दिक्कत है सिर्फ इसमें राजनीत हो रही है


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन मनिंदर सिंह ने कहा किसानों के साथ न्याय होना चाहिए लेकिन वह जानते हैं मजबूर हैं क्योंकि उन्हें पंजाब की राजनीति करनी है इसलिए उन्हें सत्य का साथ देना उनकी मजबूरी है। यही हाल शिरोमणि अकाली दल के नेता बादल उन्होंने अपना एक केंद्र में जो मंत्री तथा सहयोगी पार्टी थी बीजेपी की अपना त्यागपत्र मंत्री पद से दिया उनकी भी मजबूरी थी क्योंकि वह लोग पंजाब से आते हैं और उन्हें चुनाव लड़ना है जबकि हकीकत और लोग भी मेरे हिसाब से समझते होंगे परंतु जहां से चुनाव लड़ना है सारी पार्टी एक स्वर में बोले तो यह मजबूरी कई जा सकती है। लेकिन यह बिल किसान के हित में बहुत अच्छा बिल है किसान लोग इसको  समझने का प्रयास करें, जो भोले-भाले किसान तख्ती जिन देशद्रोहियों की पकड़े हुए थे देश के टुकड़े टुकड़े गैंग की और नहीं जानते थे कि यह हमारे साथ छल होगा जब उनको एहसास हुआ क्योंकि किसान बिल में संशोधन हेतु वार्ता तो कर सकता है लेकिन यह नहीं कहेगा कि पूरा का पूरा बिल खराब है उसको वापस लेना चाहिए, इसके पीछे बहुत सी ताकतों का हाथ है अमेरिका में बैठे खाली स्थान का नारा लगा रहे हैं। कनाडा में इटली में खालिस्तान के नारे लग रहे हैं इंग्लैंड में नारे लग रहे हैं। किसान के संबंध में कोई नहीं बोल रहा है सब अपनी अपनी राग अलाप रहे हैं मुझे लगता है बहुत बड़ी राजनीत किसानों के साथ हो रही है किसान भाइयों से मेरा कहना है जैसे अन्य राज्यों में किसान शांत बैठे हैं समझदार हैं अपने हित को समझ रहे हैं वैसे आप बहुत बुद्धिजीवी और शक्तिशाली कोम रही हो आपने आजादी में बीर सैनिकों में भारतीय सेनाओं में आप जैसे वीर शरमाओ ने बहुत देश हित में कार्य किए हैं देश का सर ऊंचा रखने में पंजाब हरियाणा का बहुत बड़ा हाथ है । जहां पर शहीद भगत सिंह जैसे लोग मैं अपनी वीरता का परचम पूरे विश्व में लहराया है उस शहीद भगत सिंह को याद करो समझदार हो जानते हो या के पीछे कौन सी ताते लगी हैं देश आज वैसे भी पढ़े विदेशी ताकतों से घिरा हुआ है वह आप लोग इस तरह अंदर बैठकर देश क्यों हान पहुंच आओगे तो विदेशी ताकतों को भारत को कमजोर करने का एक मौका मिलेगा जो किसान आंदोलन में फंडिंग आ रही है उन लोगों को जो देश को तोड़ने के लिए एक समूह तैयार की कर रखा है वह आज किसान के नाम से फिर उनकी मुर्दा रूम है जान आ गई है। आप हम सब देश हैं तो हम हैं हम हैं तो देश है देश से बड़ा कोई नहीं होता है इसलिए भारत मां को पूर्ण रूप से सुरक्षित रखने का संकल्प लेते हुए इस किसान आंदोलन को समाप्त करने की आवश्यकता है। उत्तर प्रदेश में मांस ना लगाना पड़ सकता है महंगा सरकार द्वारा दिए गए सख्त निर्देश की मांस लगाना बहुत ही जरूरी 2 गज दूरी मांस है जरूरी परंतु क्या उत्तर प्रदेश में संपूर्ण रुप से मांसक लगाना मुझे नहीं लगता क्योंकि बहुत से लोग पालन नहीं कर रहे हैं मैं उन लोगों की बात करता हूं जो लोग कहते हैं करो ना है ही नहीं जो लोग दुकानों में कैफे में होटल में रोड़ों पर घूम रहे हैं कोरोना के रूप में उन्हें कैसे सरकार समझ आएगी जो कोरोना को मारने के लिए तैयार नहीं है । उन जमाती बिरादरी यों  को कैसे समझाया जाएगा, जिसमें अन्य जाति के भी लोग जो 100 करोड़ लोग हैं उन्हें बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो करुणा को नहीं मानना है अगर मैं एकतरफा किसी की बात करूं तो गलत है इसमें हमारे बीच के हमारे लोग ही जब मास्क नहीं लगाते हैं मैं जब उनसे कहता हूं तो उनका भी जवाब नकारात्मक होता है ऐसी स्थिति में सरकार सख्त से सख्त कार्रवाई के रूप में कार्य करेगी यह मैंने अपने बहुत पहले एक लेख में लिखा था कोरोना संक्रमित को रोकने के लिए सबसे पहले लोगों को जो गाइडलाइन है उसका पालन कराया जाए उसके बाद सोता है वह लोग उस चीज को डर के रूप में अपना ही है क्योंकि बिना अनुशासन के विनाशक शासन से जनता मानने वाली नहीं है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages