मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम का हुआ आयोजन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 11, 2020

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम का हुआ आयोजन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । लोक निर्माण विभाग राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, सांसद आरके सिंह पटेल तथा जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय की उपस्थिति में समाज कल्याण विभाग द्वारा विकासखंड चित्रकूट धाम कर्वी के अंतर्गत मंदाकिनी अतिथि गृह कालूपुर के सभागार में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया गया।

राज्यमंत्री ने कहा कि मैं सभी नव दंपतियों व घराती बारातियों सहित सभी अधिकारियों कर्मचारियों को बधाई देता हूं। आज यह बड़े सौभाग्य का विषय है कि हमारे जनपद के साथ-साथ पूरे प्रदेश में सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया हमारे मुख्यमंत्री साधु वेश धारी हैं। उन्होंने गरीब बेटियों के शादी के लिए यह योजना प्रदेश सरकार पर बनाई है। जिसमें आज जनपद पर बड़े हर्ष के साथ सामूहिक विवाह हिंदू रीति रिवाज के साथ संपन्न हो रहा है।


कहा कि हमारे मुख्यमंत्री जी की इच्छा रहती है कि हमारे सांसद, मंत्री, विधायक जनपदों पर जाकर सामूहिक विवाह कराएं। कहा कि नशाखोरी से आप लोग दूर रहंे। इन बेटियों का अच्छी तरह से अपनी धर्म पत्नियों का धर्म निभाते हुए करें आप लोगों को वेद मंत्रों के साथ विवाह कराया जा रहा है। यह कार्य सामाजिक व आर्थिक रूप से अच्छा है। हम सब लोग इस विवाह में भावना पूर्वक शामिल होकर विवाह संपन्न करा रहे हैं मैं सभी लोगों को हृदय से बधाई देता हूं।

सांसद ने सभी वर-वधू सहित जिला प्रशासन को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आपका जीवन सुखमय हो यह बेटियां जिले की बेटियां हैं। मुख्यमंत्री की बेटियां हैं। पहले समाज कल्याण विभाग से इस योजना में 10 हजार रुपए दिया जाता था। और गरीब व्यक्ति परेशान होता था। मुख्यमंत्री ने जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है तो उन्होंने सामूहिक विवाह योजना को लागू कर गरीब परिवारों को लाभान्वित कराया है। कोरोना को देखते हुए इस वर्ष कम जोड़ों की विवाह कराया जा रहा है। गत वर्षो में काफी संख्या में विवाह कराए गए। कहा कि इस योजना में 51 हजार रुपए की राशि गरीब कन्याओं के विवाह में खर्च की जा रही है। गांव का गरीब व्यक्ति कर्ज लेकर अपनी बेटियों की शादी करता था और वह ऋणी हो जाता था। इसमें हमारी सरकार ने बेटियों के लिए भारत सरकार व प्रदेश सरकार ने कई जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ देकर आगे बढ़ा रही है। भारत हमारा तभी आत्मनिर्भर होगा जब गांव का गरीब अपने पैरों पर खड़ा होगा। हमारे वर वधू पान, गुटखा खाते हैं तो आज इसी हवन कुंड पर छोड़कर जाएं। अगर यह सब छोड़ देंगे तो आपका परिवार खुशहाल रहेगा। हम लोग भारत को फिर से सोने की चिड़िया बनाने का कार्य सफल करेंगे। उन्होंने वर-वधू से कहा कि जब तक गंगा यमुना में पानी रहे तब तक आप लोगों की जिंदगानी रहे।


जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने वर वधु, माननीय मंत्री, सांसद सहित अधिकारियों कर्मचारियों को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह हम लोगों का सौभाग्य का विषय है। कि जनपद के सभी विकास खंडों में 65 जोड़ों का सामूहिक विवाह संपन्न कराने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। यह शासन की अच्छी योजना है जिसकी प्रशंसा की जाए वह कम है। हर माता-पिता की इच्छा होती है कि वह अपनी बेटी को अच्छी जगह विवाह करें गरीब परिवारों को शासन द्वारा योजनाएं चलाई गई। इस योजना का लोगों को लाभ मिला और वह आज खुश हैं। गायत्री परिवार के लोगों द्वारा वैवाहिक रीत रिवाज के साथ विवाह कराया जा रहा है। हम लोगों के लिए यह सौभाग्य का विषय है कि हम अपनी बेटी का विवाह धूमधाम से कर रहे हैं। प्रत्येक जोड़ों को अच्छी क्वालिटी का सामान दिया जा रहा है। कुछ सहयोग भी सामाजिक लोगों द्वारा दिया गया। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि जिन बेटियों के परिवार में शौचालय उपलब्ध नहीं है उन्हें तत्काल व्यवस्था कराएं। बेटियां अभिशाप नहीं वरदान है, यह बेटियां हमारी बेटियां हैं। उसी धूमधाम के साथ हम विदा करेंगे। यह बेटियां जिलाधिकारी की बेटियां हैं। मैं वर व उनके पारिवारिक जनों से कह रहा हूं कि यह मेरी बेटियों को स्वीकार करें और इन्हें अच्छी तरह से लालन पालन करें। जिला प्रशासन हमेशा आप लोगों के साथ है। अपने आने वाली पीढ़ी को पढ़ाना जरूर। कहा कि जनपद में पढ़े बेटियां बढ़े बेटियां का अभियान चलाया जा रहा है। इन विवाहित बेटियों को शासन द्वारा जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी दिलाया जाएगा। 

जिलाधिकारी सहित समस्त अधिकारियों ने अतिथियों का पुष्प व स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक साकेत बिहारी शुक्ला ने किया। खंड विकास अधिकारी राजेश नायक ने प्रति विवाहित जोड़ों को घड़ी व साल, स्वास्थ विभाग द्वारा नई पहल किट, संदीप अग्रहरी ने डिनर सेट, ग्राम प्रधान खोही प्रतिनिधि अरुण कुमार त्रिपाठी ने कामतानाथ की फोटो व पारितोषिक तथा भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल ने पारितोषिक देकर सम्मानित किया।

जिला समाज कल्याण अधिकारी डॉक्टर नीलम सिंह, जिलाधिकारी सहित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि सामूहिक विवाह के लिए सरकार की तरफ से 51 हजार रुपए की धनराशि प्रत्येक जोड़ा पर खर्च की जाती है। जिसमें 35 हजार रुपए नगद कन्या के खाते में दिए जाते हैं। कन्या के जेवरात एवं श्रंगार के लिए 10 हजार रुपए व 6 हजार रुपए आयोजन के रूप में खर्च किया जाता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2020-21 के लिए शासन की तरफ से 65 जोड़ों का लक्ष्य सामूहिक विवाह का मिला है। जिसमें जिले के पांचों विकासखंड पर 10-10 शादियां, नगर पालिका व नगर पंचायत में 5-5 शादियों का लक्ष्य दिया गया है। जो आज संपन्न कराया गया।

कार्यक्रम के दौरान सांसद प्रतिनिधि शक्ति प्रताप सिंह तोमर, भारतीय जनता पार्टी के राज कुमार त्रिपाठी, सुरेश कुमार अनुरागी, उप जिलाधिकारी कर्वी राम प्रकाश, अपर जिला पंचायत राज अधिकारी राजबहादुर, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारीयसवंत मौर्य, जिला प्रोबेशन अधिकारी राम बाबू विश्वकर्मा सहित संबंधित अधिकारी कर्मचारी व वैवाहिक जोड़ों के पारिवारिक जन व गायत्री परिवार के लोग मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages