स्वच्छ पर्यावरण हेतु 33 प्रतिशत पेड़-पौधें हैं जरूरी: राकेश जैन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, December 21, 2020

स्वच्छ पर्यावरण हेतु 33 प्रतिशत पेड़-पौधें हैं जरूरी: राकेश जैन

विवि में आयोजित हुआ पर्यावरण जागरूकता कार्यक्रम 

बांदा, के एस दुबे । कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के अन्र्तगत संचालित उद्यान महाविद्यालय के सभागार कक्ष में सोमवार को वानिकी महाविद्यालय के तत्वाधान में पर्यावरण जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि राकेश जैन ने कहा कि पर्यावरणीय समस्याओं का हल नहीं किया गया तो पृथ्वी भावी पीढ़ी के रहने योग्य नहीं रह जायेगी। भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए पर्यावरण की रक्षा एवं इसका बचाव अनिवार्य है। विवि के कुलपति डा. यूएस गौतम ने कहा हम सभी को पर्यावरणीय नियमों का दिल से पालन करना चाहिए एवं इस मौके पर उन्होनंे जन्म दिवस वाटिका बनाने का आग्रह भी किया। उन्होनें यह भी कहा कि पर्यावरणीय सुरक्षा से बढ़कर कोई पूज्यनीय कार्य नहीं है। 

मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह भेंट करते कुलपति यूएस गौतम


पर्यावरण संरक्षण गतिविधि संगठन के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संगठन के राष्ट्रीय समन्वयक राकेश जैन ने यह भी कहा कि पृथ्वी पर स्वच्छ पर्यावरण के लिए 33 प्रतिशत पेड़-पौधों का होना जरूरी है। जबकि वर्तमान में लगभग 20 प्रतिशत ही पेड़-पौधें है। उन्होंनें कहा कि लोगों को वायु जल, मृदा और पेड़-पौधों जैसे प्राकृतिक पर्यावरण संसाधनों की रक्षा करनी चाहिए। यह सब प्राकृतिक संपदा है, जिस पर मनुष्य का जीवन निर्भर करता है। उन्होनें सम्बोधन के अंत में छात्र-छात्राओं को पेड़ लगाओं, पानी बचाओं एवं पालीथीन हटाओं का
मौजूद लोग

स्लोगन दिया। विशिष्ट अतिथि उमेश शुक्ला राष्ट्रीय शैक्षणिक संस्थान प्रान्त संयोजक पर्यावरण संरक्षण ने छात्रों को पर्यावरण के प्रति जागरूक रहने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम का संचालन सहायक प्राध्यापक विज्ञा मिश्रा ने किया जबकि आभार प्रदर्शन डा0 केएस तोमर सहायक प्राध्यापक ने किया। इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव डा0 जीएस पंवार, उद्यान महाविद्यालय के अधिष्ठाता डा0 एसवी द्विवेदी, सह अधिष्ठाता वानिकी डा0 संजीव कुमार, सह-अधिष्ठाता छात्र कल्याण डा0 वीके सिंह एवं विश्वविद्यालय के विभिन्न शैक्षणिक, गैर शैक्षणिक कर्मचारीगण की उपस्थिति रहीं।



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages