राष्ट्रीय लोक अदालत में 15731 वादों का निस्तारण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, December 12, 2020

राष्ट्रीय लोक अदालत में 15731 वादों का निस्तारण

238 दाण्डिक वादों का निस्तारण कर 214750 अर्थदण्ड वसूला

फतेहपुर, शमशाद खान । जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में दीवानी न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसका शुभारम्भ जनपद न्यायाधीश ओम प्रकाश त्रिपाठी ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित करके किया। लोक अदालत में कुल 15731 वादों का निस्तारण किया गया। जिसमें 238 दाण्डिक वादों का निस्तारण कर 214750 रूपये अर्थदण्ड वसूला। 

लोक अदालत में वादों का निस्तारण करते न्यायिक अधिकारी व अन्य।

लोक अदालत में पारिवारिक न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश विजय शंकर उपाध्याय ने 34 वैवाहिक वादों का निस्तारण किया। मोटर दुर्घटना न्यायाधिकरण के पीठासीन अधिकारी डा0 बाल मुकुंद ने 16 मोटर दुर्घटना याचिकाओं का निस्तारण करते हुए 7560000 का प्रतिकर दिलाया। पारिवारिक न्यायालय के अपर प्रधान न्यायाधीश शैलेन्द्र निगम ने दो वैवाहिक वादों का निस्तारण किया। अपर जनपद न्यायाधीश/एफटीसी न्यायालय संख्या 2 अपर्णा त्रिपाठी ने एक विविध दाण्डिक वाद का निस्तारण किया। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रशांत शुक्ला ने 84 दाण्डिक वादों का निस्तारण करते हुए 154800 अर्थदण्ड के रूप में जमा कराया। सिविल जज (सी0डि0) आनन्द मिश्रा ने 22 दाण्डिक वादों का निस्तारण करते हुए 16100 अर्थदण्ड के रूप में जमा कराया एवं दो उत्तराधिकार वादों का निस्तारण करते हुए 364492 के उत्तराधिकार प्रमाण पत्र जारी किये। सिविल जज जू0डि0 खागा किरन मिश्रा ने 54 दाण्डिक वादों का निस्तारण कर 31500 अर्थदण्ड वसूला। ग्राम न्यायालय बिन्दकी के न्यायाधिकारी अतुल पाल ने 38 दाण्डिक वादों का निस्तारण कर 11400 अर्थदण्ड के रूप में जमा कराये। राजस्व न्यायालयों द्वारा 346, 403 शमनीय दाण्डिक वाद एवं 19 चकबंदी वादों का निस्तारण किया गया। 11158 विविध प्रकरणों का निस्तारण किया गया। नगर पालिका परिषद द्वारा 2336 प्रकरणों का निस्तारण कर 2570555 का शुल्क वसूला गया। भारत संचार निगम ने दस प्रकरणों का निस्तारण कर 15800 शुल्क वसूला। जनपद के बैकिंग संस्थानों ने 518 लाख रूपये मूल्य के 1194 प्रकरणों का निस्तारण किया। इस प्रकार लोक अदालत में 238 दाण्डिक वादों का निस्तारण कर 214750 अर्थदण्ड वसूला गया। 36 भरण पोषण वाद एवं राजस्व के 346 वाद निस्तारित किये गये। कुल 15731 वादों का निस्तारण किया गया। जिला जज ने समस्त न्यायिक अधिकारियों, कर्मचारियों, अधिवक्ताओं, जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष व सचिव समेत मीडिया कर्मियों का सहयोग के लिए आभार जताया। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages