नदी बचाने चले थे, गौशाला में आकर अटक गए! - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, November 13, 2020

नदी बचाने चले थे, गौशाला में आकर अटक गए!

बुंकियू द्वारा अवैध खनन को लेकर चल रहा अनशन, अन्ना जानवरों में आकर समाप्त

बदौसा, के एस दुबे । बुंदेलखंड किसान यूनियन द्वारा बीते एक हफ्ते से महुटा व बरकतपुर बालू खदानों में अवैध तरीके से बागै नदी में पुल बना कर किये जा रहे खनन के खिलाफ अतर्रा तहसील में चल रहे अनशन का शुक्रवार को बदौसा में नायब तहसीलदार अतर्रा व पुलिस क्षेत्राधिकारी नरैनी के द्वारा अनशनकारियों को जूस पिला कर अनशन समाप्त करवाया गया। इस दौरान बुंकियू पदाधिकारियों ने क्षेत्र में व्याप्त अन्ना जानवरों की समस्याओं पर केंद्रित एक ज्ञापन भी सौंपा।

ज्ञापन सौंपते बुंकियू अध्यक्ष

मालूम हो कि पिछले 07 नवंबर से महुटा व बरकतपुर खदानों में एनजीटी नियमों के विपरीत चल रहे खनन व बागै नदी में अवैध तरीके से बने पुलों को लेकर बुकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा के नेतृत्व में तहसील परिसर अतर्रा में अनशन चल रहा था लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई न होने के कारण बुकियू ने शुक्रवार को चतुर्वेदी ढाबा बदौसा के पास अवैध खनन व अन्ना जानवरों की समस्याओं को लेकर चक्का जाम का ऐलान किया था परंतु उच्च अधिकारियों के अनुरोध पर अंतिम समय किये गये परिवर्तन में इस कार्यक्रम को किसान पंचायत के रूप में तब्दील कर दिया गया जिसके बाद सभा को संबोधित करते हुए बुकियू अध्यक्ष ने अन्ना जानवरों को लेकर शासन प्रशासन को आड़े हाथों लेते हुए समस्याओं की जल्द से जल्द निराकरण की मांग करते हुए उप जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा इस दौरान बुकियू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रवण तिवारी, कोषाध्यक्ष राकेश साहू, महामंत्री गजबदन शुक्ला, सचिव अखिलेश रावत, प्रहलाद करवरिया, महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष अनूपा सिंह, उमा सिंह सहित सभी पदाधिकारी व किसान उपस्थित रहे। 

मौके पर मौजूद पुलिस बल

खनन माफियाओं और बुंकियू के बीच बड़ी डील की चर्चा 

बदौसा। बीते एक सप्ताह से महुटा व बरकतपुर में बागै नदी में चल रहे अवैध तरीके से खनन को लेकर अनशन में बैठी बुकियू द्वारा इस सभा में  एकबार भी अवैध तरीके से किये जा रहे खनन को लेकर कोई बात न कहे जाने पर लोगों में खनन माफियाओं व बुकियू के बीच बड़ी डील की चर्चा बनी रही, हालांकि बुकियू अध्यक्ष विमल शर्मा ऐसी किसी भी डील से इंकार करते रहे उन्होंने कहा कि दीपावली पर्व को दृष्टिगत रखते हुए उच्च अधिकारियों के अनुरोध पर यह चक्का जाम का कार्यक्रम निरस्त किया गया और अवैध खनन के मुद्दे पर पर हम जल्द ही एक जनहित याचिका दायर करने जा रहे हैं।

पीएसी और पुलिस बल रहा मौजूद 

बदौसा। बुकियू द्वारा पूर्व घोषित चक्का जाम कार्यक्रम को लेकर सभा स्थल चतुर्वेदी ढाबा पर पुलिस क्षेत्राधिकारी अतर्रा की अगुवाई में थाना प्रभारी बदौसा व अतर्रा सहित भारी पुलिस व पीएसी बल मौके पर ही मौजूद रहा। इस दौरान राजस्व विभाग के कर्मचारी भी उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages