रंगमंच में बेहतर प्रदर्शन के लिए मिला सम्मान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, November 26, 2020

रंगमंच में बेहतर प्रदर्शन के लिए मिला सम्मान

बबेरू का लाल रोशन कर रहा क्षेत्र का नाम

परिजनों और चाहने वालों में खुशी की लहर 

बबेरू, के एस दुबे । कस्बा निवासी युवक फिल्म एवं रंगमंच में अपनी कला व संस्कृति पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर अनुरागिनी संस्था द्वारा लखनऊ में अंगवस्त्र एवं प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। बबेरू का लाल क्षेत्र का नाम रोशन करने पर क्षेत्रवासियों में खुशी व्याप्त है।

सम्मानित करने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह

बबेरू क्षेत्र के ग्राम मियांबरौली हाल मुकाम बबेरू नहर पटरी निवासी चन्द्रभाष सिंह को अनुरागिनी संस्था द्वारा लखनऊ में आयोजित बुन्देलखण्ड महोत्सव में सम्मानित किया। मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिह, हमीरपुर महोबा सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चन्देल, सहकार भारती के प्रदेश महामंत्री प्रवीण सिंह जादौन, उच्च न्यायालय प्रयागराज के न्यायाधीश सुरेश कुमार गुप्ता ने सम्मानित किया। महापरिषद के सचिव दिनेश कुमार ने बताया कि 10 वर्षो से रंगमंच थिएटर में बतौर लेखक, निर्देशक एवं अभिनेता के रूप में किरदार निभाया। अब तक 40 नाटकों में अभिनय व 25 नाटकों का निर्देशन और ट्रांजिट, महाभारत से भारत तक, विफोर सुसाइड, लाला हरदौल, आखिर कब तक, धर्म अधर्म, पुश्तैनी धंधा, आदि नाटकों का लेखन किया। रंगमंच के साथ साथ फिल्मों में छोटी-छोटी भूमिका निभाई है। आई किल्ड माई मदर, इंसिडेंस, कीडे, आफ्टर इफेक्ट आदि समाजिक लघु फिल्मो में भूमिका निभाई है। बुन्देली कला को आम जन तक लाने के लिए हमेशा अपने नाटकों में इनका प्रयोग करते रहे। अपनी लोक कला से प्रेम की वजह से ही प्रयागराज में राई नृत्यकी कार्यशाला का आयोजन बुन्देलखण्ड महापरिषद के सहयोग से किया और लगभग 50 छात्राओं को राई नृत्य की शिक्षा प्रदान कराई और कुंभ मेले में सफल प्रस्तुति भी कराई है। भारत सरकार से संस्कृति विभाग से बुन्देली नाटक लाला हरदौल के मंचन पर अंतरराष्ट्रीय नाटय मोहत्सव कटक उड़ीसा में नाटक गंगा व्यथा में अभिनय के लिए बेस्ट इंटरनेशनल एक्टर अवार्ड भी मिल चुका है। बच्चों को रंगमंच की बारीकियां सिखाने के लिए विजय मेला थिएटर ग्रुप की स्थापना की और लखनऊ जेसे शहर में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। नाटक कथा एक कंस की, ध्रुव स्वामिनी, हयवदन, क्राइम एण्ड पनिशमेंट, नर नारी, जिन लाहौर नही देख्या, यशोदावेन, फौजी, किस्सा मौजपुर का, बगिया बंछाराम की, कैदी सूरज की वापसी,  निर्मला, लब यू जिन्दगी मे निर्देशन एवं अभिनय कर बबेरू क्षेत्र का नाम प्रदेश देश में किया है। जानकारी मिलने पर क्षेत्रवासियों में खुशी छा गई।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages