हनुमान धारा मंदिर रोपवे का शुभारंभ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, November 9, 2020

हनुमान धारा मंदिर रोपवे का शुभारंभ

एक घण्टे में पांच सौ यात्रियों के आवागमन की क्षमता

 इंतजार खत्म, दीवाली बाद उपलब्ध होगी रोपवे की सुविधा

मैहर और देवस के बाद दामोदर रोपवे इंफ़्रा लिमिटेड ने स्थापित किया हनुमान धारा मंदिर में रोपवे 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। हनुमान धारा मंदिर में सोमवार को रोपवे स्टेशन का उद्घाटन किया गया। रोपवे के लोकार्पण में सतना सांसद गणेश सिंह मौजूद रहे। यह मोनोकेबल फिक्स्ड गृप रोपवे है जिसकी क्षमता से हर घंटे 500 यात्री आवागमन कर सकते है। इस रोपवे की लंबाई 302 मीटर है। हनुमान धारा पहाड़ी के मध्य पर बहुत प्रसिद्ध स्थल है। हनुमान जी ने  लंका दहन कर वापस आते वक्त अपनी पूंछ पर लगी आग इसी धारा में बुझाई थी। हनुमान धारा रामायण के पवित्र पाठ में महत्वपूर्ण उल्लेख पाते हैं। यह माना जाता है कि हनुमान धारा में वसंत का


पानी भगवान श्री राम द्वारा बनाया गया था। वसंत का पानी ज्ञात और अपने उपचार गुणों के लिए भी जाना जाता है। इसकी काफी मांग है और भक्त उन्हें बड़ी संख्या में वापस ले जाते हैं। सदाबाहरी का अयोग्य स्रोत भी इस प्रसिद्ध पवित्र स्थान को रहस्यपूर्ण बनाता है। 


यह रोपवे परिस्थिति के अनुकूल कार्यरत है।इसके परिचालन से तीर्थयात्रियों को काफी राहत मिलेगी। पहले तीर्थयात्रियों को 618 सीढियां चलकर दर्शन के लिए जाना होता था और उसमें भी खड़ी चढ़ाई होती थी। रोपवे के माध्यम से मंदिर तक पहुंचने के लिए अब केवल 5 मिनट लगेंगे। दामोदर रोपवे कोलकाता स्थित कंपनी है जो पिछले 40 साल की विशेषता और अनुभव के साथ पहाड़ी के टर्मिनल का निर्माण करती है। कंपनी के वाईस प्रेसिडेंट श्रवण अग्रवाल ने बताया कि रोपवे के उद्घाटन से काफी भक्तजनों को राहत मिलेगी। खासकर वृद्ध लोग अब आसानी से दर्शन कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि यह रोपवे दो साल में बनकर तैयार हुआ है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages