राशनकार्ड बनवाने के लिए दो वर्षो से भटक रही पीडिता - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Thursday, November 12, 2020

राशनकार्ड बनवाने के लिए दो वर्षो से भटक रही पीडिता

ग्राम पंचायत सचिव, ग्राम प्रधान, प्रधानपति व राशन कोटेदार पर लगाया आरोप

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - एक पीडिता अपना राशन कार्ड बनवाने के लिए महीनो से दर-दर भटक रही है लेकिन उसका राशनकार्ड नह बन पा रहा है। उसका आरोप है कि पंचायत सिक्रेट्री तथा ग्राम प्रधान से मिल कोटेदार उनका राशनकार्ड नही बना रहा है, जबकि भाजपा सांसद देवेन्द्र सिंह भोले ने पत्र लिखकर पीडिता का राशनकार्ड बनवाने का निर्देश दिया था। पीडिता द्वारा कई अधिकारियों से भी शिकायत की गयी लेकिन कार्यवाई नही की गयी। वहीं पीडता ने कहा कि उससे 5 हजार रूपए मांगे जा रहे है, यहां तक वह पात्र महिला है लेकिन अन्य लोगो के राशनकार्ड बन गये लेकिन उसका नह बनाया जा रहा है वहीं कोटेदार मृतक के नाम का राशन उठाकर सरकार की आंखोें में धूल झोंक रहा है और यह सब ग्राम प्रधान, पचांयत सचिव की मिलीभगत से हो रहा है।
 

           ग्राम फत्तेपुर, ब्लाक व तहसील मैथा थाना शिवली कानपुर देहात की रहने वाली प्रमोदनी शुक्ला पत्नी ऋषीराम ने आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री को भेजे गए शिकायती पत्र में कहा तथा बताया कि ग्राम पंचायत सचिव, ग्राम प्रधान सोनी व प्रधान पति अमरपाल तथा कोटेदार राम मोहन व देवकी पत्नी मिथलेश कुमार भ्रष्टता में लिप्त है तथा  मृतक कौशिल्या को इन सभी ने मिलकर अपनी रिपोर्ट में जीवित रखा है तथा उसके नाम का राशन उठाकर सरकार से धोखाधडी की जा रही है, जिसका सत्यापन भी हो चुका है लेकिन कार्यवाई कोई नही की गयी, वहीं पीडिता 2018 से लगातार अपने पात्र होने का सबूत दे रही है लेकिन उसका अन्त्योदय राशन कार्ड नही बनाया जा रहा है जिसमें ग्राम प्रधान और पंचायत सचिव का भी हाथ है। पीडिता से राशनकार्ड बनाये जाने को लेकर पांच हजार रूपया मांगा जा रहा है। कई अधिकारियों के मिलने के बाद भी कार्यवाई नही की गयी, जबकि भाजपा सांसद ने भी राशनकार्ड बनाये जाने को निर्देशित किया था, बावजूद इसके सचिव कहता है कि उप जिलाधिकारी चाहे तो बना दे लकिन बिना रूपयों के मैं नही बनाऊंगा। वहीं जांच में मृतका कौशल्या पत्नि स्व0 गंेदालाल को सचिव ने अपने सत्यापन में जिंदा रखा है, जिसपर न तो कोई कार्यवाई की गयी और न ही भ्रष्ट सचिव के खिलाफ कोई मामला दर्ज कराया गया। भ्रष्ट पंचायत सचिव के हौसले इतने बुलंद है कि उसने पीडिता से साफ कहा कि तुम्हारा राशनकार्ड नही बन सकता वहीं ग्राम प्रधान पति पीडिता को डराता-धमकाता है उसकी कहीं सुनवाई नही हो रही है। एक बार फिर पीडिता ने उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाते हुए प्रधान, प्रधानपति तथा पंचायत सचिव पर कार्यवाई की मांग करते हुए स्वयं के लिए राशनकार्ड बनवाये जाने की गुहार लगाई।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages