दस माह बाद भी नहीं बन सकी बसफरा प्राथमिक विद्यालय की बाउण्ड्री - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, November 27, 2020

दस माह बाद भी नहीं बन सकी बसफरा प्राथमिक विद्यालय की बाउण्ड्री

शौचालय का कार्य भी अधूरा, परिसर में फैली रहती गन्दगी 

विवादित भूमि की पैमाइश करना राजस्व विभाग का काम: पुष्पराज

फतेहपुर, शमशाद खान । अमौली विकास खण्ड के ग्राम बसफरा स्थित प्राथमिक विद्यालय की बाउण्ड्रीवाल का काम आज से लगभग दस माह पहले शुरू हुआ था लेकिन आज तक इसका निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका है उधर शौचालयों का निर्माण भी अधर में लटका हुआ है। बाउण्ड्रीवाल न बने होने से आवारा पशु विद्यालय परिसर में घुसकर गन्दगी फैलाने का काम कर रहे हैं। उधर खण्ड शिक्षा अधिकारी पुष्पराज पटेल का कहना है कि विवादित भूमि की पैमाइश करना राजस्व विभाग का काम है। 

अधूरी पड़ी बाउण्ड्रीवाल का दृश्य।

बताते चलें कि प्राथमिक पाठशाला में ग्राम पंचायत द्वारा पांच लाख की लागत से जनवरी 2020 से बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य शुरू कराया गया था। जिसमें तीन साइड की बाउंड्रीवाल की दीवार का निर्माण कार्य हो गया लेकिन जब पश्चिम साइड में दीवार निर्माण हेतु नींव खोदी गई जिस पर निर्माण कार्य के पूर्व ही गांव के ही किसान राजेश मिश्रा द्वारा अपनी भूमिधरी जमीन बताकर कार्य को रुकवा दिया गया। फरवरी माह से प्रशासन की लापरवाही के चलते 10 माह का समय बीत जाने के बाद भी उस जगह की राजस्व विभाग द्वारा नाप नहीं की जा सकी। जिससे बाउंड्रीवाल का कार्य लटका होने से वहां लोग विद्यालय परिसर में आवारा पशु स्वच्छंद विचरण कर विद्यालय में गंदगी फैलाते रहते हैं। इतना ही नहीं बाउंड्रीवॉल का कार्य पूरा न होने के साथ ही विद्यालय में शौचालय का भी निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका है। जिससे शिक्षकों व विद्यालय मे पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को लघुशंका के लिए बाहर जंगलों में जाना पड़ता है। पंचायत सचिव अतुल कुमार गौड़ का कहना है कि लेखपाल द्वारा भूमि की पैमाइश करवाकर शीघ्र ही कार्य को पूरा करवाया जाएगा। खण्ड शिक्षा अधिकारी पुष्पराज पटेल का कहना है कि प्राथमिक विद्यालय बसफरा मे विवादित भूमि की पैमाइश करने का कार्य राजस्व विभाग का है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages