पीवी मेगामार्ट प्रबंधक ने पत्रकार को दी जान से मारने की धमकी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, November 9, 2020

पीवी मेगामार्ट प्रबंधक ने पत्रकार को दी जान से मारने की धमकी

कोरोना गाइड लाइन उलंघन की छपी खबर से बौखलाया प्रबन्धक

पत्रकार की तहरीर पर पुलिस ने दर्ज किया मामला 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। कोतवाली कर्वी के कालूपुरपाही गांव के मजरा कछारपुरवा के पत्रकार संजय साहू ने पीवी मेगामार्ट शाॅपिंग माल के मालिक कंचन सिंह के खिलाफ गम्भीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है। सोमवार को पीड़ित पत्रकार संजय साहू ने कोतवाली में दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा कि पीवी मेगामार्ट में उद्घाटन का कवरेज करने गया था। वहां कोरोना गाइडलाइन का जमकर उल्लंघन देखने को मिला। समाचार प्रकाशित करने पर पीवी मेगामार्ट के प्रबंधक कंचन सिंह ने फोन पर पत्रकारिता सिखा देने की धमकी दी। कहा कि उनका 14 वर्ष का अनुभव है। बड़े-बड़े


समाचार पत्रों को जेब में रखते हैं। तुम्हारे खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाकर परेशान कर दूंगा। कंचन सिंह ने दबंगई से पैसों का रौब दिखाते हुए जान से मारने की धमकी दी है। पीड़ित पत्रकार ने कहा कि कंचन सिंह से उसे जान का खतरा है। वह पैसे वाला दबंग व्यक्ति है, कुछ भी करवा सकता है। जानमाल को क्षति पहुंचने पर पीवी मेगामार्ट के प्रबंधक कंचन सिंह जिम्मेदार होंगे। कोतवाल ने तहरीर पर रिपोर्ट दर्जकर पीड़ित पत्रकार को कार्रवाई का भरोसा दिया है।

ऑफर के नाम पर खुलेआम लूट
-आला-अफसरों को पहुंचा गिफ्ट पैक,नही हो रही कार्यवाई


चित्रकूट..
पीवी मेगामार्ट शापिंग माल में नियम विरुद्ध व्यापार करने का मामला भी सामने आया है। पीवी मेगामार्ट की तरफ से भ्रामक प्रचार प्रसार कर लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है। ऑफर के नाम पर ग्राहकों से खुली लूट की जा रही है। एनाउंसमेंट व पम्पलेट एवं  विभिन्न प्रचार प्रसार  माध्यमों में शब्दों का हेरफेर कर चित्रकूट के जनमानस को लूटा जा रहा है। मेगामार्ट की तरफ से किए जा रहे प्रचार प्रसार में कहा जा रहा है कि एक हजार तक की खरीददारी में एक हजार तक का बाउचर फ्री मिलेगा लेकिन जब ग्राहक एक हजार रुपये की खरीददारी करने के बाद ऑफर लेने पहुंचता है तो 50 रुपये का स्क्रैच कार्ड पकड़ा दिया जाता है। जिसको देखकर ग्राहक अपने आपको ठगा सा महसूस करता है।
 
जिला प्रशासन की तरफ से अभी तक शापिंग माल की मनमानी में कोई कार्यवाही न किये जाने पर मिलीभगत होने की चर्चाएं आम हो रही हैं। लोगों में चर्चा है कि शापिंग माल के मालिकानों की तरफ से जिले के आला अधिकारियों को गिफ्ट पैक पहुंचाये जा चुके हैं इसलिए कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है जबकि कोरोना गाइड लाइंस को देखा जाए तो शापिंग माल संचालन की अनुमति ही नहीं मिल सकती थी।कोरोना गाइड लाइन के तहत निर्देश हैं कि ग्राहकों के आने जाने के रास्ते अलग अलग होने चाहिए, बच्चों और बुजुर्गों का प्रवेश वर्जित होना चाहिए लेकिन पीवी मेगामार्ट शापिंग माल में किसी भी नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। शापिग माल में ग्राहको के साथ दिनभर बच्चों और 60 वर्ष से अधिक के बुजुर्गों का आवागमन होता है इतना ही नहीं मेगामार्ट में बिना मास्क के भी ग्राहक प्रवेश करते हैं लेकिन व्यापार के चक्कर में सरकार के सारे नियम हवा हवाई साबित हो रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages