सड़क पर शव रखकर ग्रामीणों ने लगाया जाम, नारेबाजी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, November 4, 2020

सड़क पर शव रखकर ग्रामीणों ने लगाया जाम, नारेबाजी

साढ़े तीन घंटे तक लगा रहा जाम, कोतवाली पुलिस पर लापरवाही का आरोप 

लिखित आश्वासन पर माने ग्रामीण, चित्रकूट में फांसी में लटका मिला था शव 

बबेरू, के एस दुबे । देवरथा गांव निवासी किशोर का शव चित्रकूट के खोही इलाके में पेड़ से फांसी पर लटकता मिला था। बुधवार को शव परिजनों को मिला तो ग्रामीणों के साथ परिजनों ने बांदा-बबेरू मार्गं पर शव रखकर जाम लगा दिया। कोतवाली पुलिस और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कोतवाली पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। क्षेत्रीय विधायक और पूर्व विधायक समेत एसडीएम और सीओ फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। परिजनों को समझाने का प्रयास किया लेकिन परिवार के लोग नहीं माने। साढ़े तीन घंटे बाद एसडीएम और सीओ के एक सप्ताह में हत्या का खुलासा करने के लिखित आश्वासन के बाद परिजन माने और जाम खत्म किया। 

बबेरू कोतवाली क्षेत्र के देवरथा गांव निवासी संदीप पाल (14) पुत्र रामनारायण पाल 29 अक्टूबर की रात अचानक लापता हो गया था। मंगलवार को उसका शव चित्रकूट जिले के खोही इलाके में पेड़ से फंदे पर लटकता मिला था। बुधवार को घटना से उत्तेजित परिजनों ने ग्रामीणों के सहयोग से ओरहा गांव के पास बांदा-बबेरू मार्ग पर किशोर का शव सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। कोतवाली पुलिस के खिलाफ देर तक नारेबाजी की और लापरवाही का आरोप लगाया। कहा कि अगर पुलिस सतर्क होती और कार्रवाई करती तो शायद संदीप आज जीवित होता। जाम लगाए लोगों ने घटना का जल्द पदार्फाश करते हुए हत्यारों की गिरफ्तारी और सुरक्षा के लिए शस्त्र लाइसेंस दिलाए जाने की मांग की। जाम लगाए जाने की खबर मिलते ही क्षेत्रीय विधायक चंद्रपाल कुशवाहा और पूर्व विधायक विशंभर सिंह यादव मौके पर पहुंच गए। आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों को समझाने-बुझाने का प्रयास किया। कुछ ही देर में अपर एसपी महेंद्र सिंह चैहान, एसडीएम महेंद्र कुमार और पुलिस क्षेत्राधिकारी जाम स्थल पहुंचे और परिजनों और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन परिजन और ग्रामीण नहीं माने। लगभग साढ़े तीन घंटे बाद एसडीएम महेंद्र कुमार और पुलिस क्षेत्राधिकारी आनंद पांडेय ने लिखित तौर पर आश्वासन दिया कि एक सप्ताह के अंदर घटना का खुलासा किया जाएगा और एक माह के अंदर परिजनों को शस्त्र लाइसेंस दिलाया जाएगा, इस आश्वासन पर परिजनों ने जाम खत्म किया। 

जाम के दौरान परिजनों से बात करते सपाई

खुलासा न होने पर आंदोलन करेंगे सपाई 

बांदा। समाजवादी पार्टी ने किशोर की अपहरण के बाद हत्या को लेकर गहरा दुख जाहिर किया है। बांदा-बबेरू मार्ग पर परिजनों और ग्रामीणों के द्वारा लगाए गए जाम की सूचना मिलने पर सपा के पूर्व विधाययक विशंभर सिंह यादव, सपा जिलाध्यक्ष विजयकरन यादव, ओमनारायण त्रिपाठी विदित, राजन चंदेल समेत तमाम सपाई मौके पर पहुंचे और परिजनों से बात की। पुलिस की लापरवाही पर आंखें तरेरते हुए सपाइयों ने चेतावनी दी है कि एक सप्ताह के अंदर हत्या का खुलासा कर आरोपियों को जेल नहीं भेजा गया तो सपा संघर्ष करने को बाध्य होगी। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages