एनआरएलएम की दालमिल को वृहद रूप दिया जाए: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 3, 2020

एनआरएलएम की दालमिल को वृहद रूप दिया जाए: डीएम

डीएम ने दाल मिल को और बड़े रूप में संचालित करने के दिए निर्देश 

बांदा, के एस दुबे । उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित मिशन शक्ति के अंतर्गत महिला स्वावलंबन हेतु उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा स्थापित दाल मिल का निरीक्षण समाधान दिवस संपन्न करने के पश्चात जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह द्वारा किया गया। विकासखंड नरैनी के ग्रामीण अंचल में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाली दीदी को स्वाबलंबी बनाते हुए उनके आय संवर्धन हेतु स्थापित इस दाल मिल की पूरी कीमत ढाई लाख रुपए है (जिसे दीदी द्वारा आजीविका मिशन से उधार लिया गया है) और किस्तों में चुकाया जाएगा।इस दाल मिल में दाल उपलब्ध करवाने हेतु उत्पादक संघ का गठन किया गया है। प्रोडक्शन ग्रुप अंतर्गत साढे़ तीन हजार का चयन करने के पश्चात साफ्टवेयर डेवलप करते हुए उसमें इसकी फीडिंग की गई है। प्रत्येक महिला कृषक के पास कितनी जोत है और किसका किसका उत्पादन फसल के रूप में दीदी द्वारा कब तक किया जाता है, इसके पूरे आंकड़े इकट्टा करने के पश्चात उन्हें दाल की खेती के लिए प्रोत्साहित किया गया है। विकासखंड

दाल पैकेजिंग देखते जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह

नरैनी में पैदा होने वाली देसी अरहर की दाल (जो कि छोटे दाने की होती है) स्वाद बेहद अच्छा होने के कारण बाजार में बहुत मांग है। इस दाल को माह जून में बोने के होली के बाद मार्च के करीब काटा जाता है। दाल मिल में वर्तमान में 58 महिला कार्यरत हैं जो प्रत्यक्ष रूप से दिल के अनुसार दाल की प्रोसेसिंग और पैकेटिंग का कार्य करती है। सीजन अर्थात मार्च के आसपास दीदी से 50 से 60 के बीच दाल को खरीद कर उसकी प्रोसेसिंग करते हुए 80 में उसे थोक व्यापारी को बेचा जाता है। जिलाधिकारी द्वारा दाल मिल को और बड़ा करते हुए इसे बड़े स्तर पर संचालित करने हेतु निर्देशित किया गया। डिप्टी कमिश्नर एनआरएलएम द्वारा जगह की अनुपलब्धता के संबंध में अवगत कराने पर जिलाधिकारी द्वारा उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया गया कि ग्राम सभा की भूमि (आसपास विकासखंड के पास जहां उपलब्ध हो) उसे खंड विकास अधिकारी को उपलब्ध करवा दें और खंड विकास अधिकारी को आदेशित किया कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत नियमानुसार निर्माण कार्य करते हुए दाल मिल को स्थापित कर बड़े स्तर पर संचालित करें। मौके पर उपस्थित सभी समूह की महिलाओं से जिलाधिकारी द्वारा वार्ता की गई और सभी को प्रोत्साहित किया गया। महिला द्वारा अवगत कराया गया कि इससे प्रतिदिन कार्य करते हुए डेढ़ सौ से 200 के बीच में आय हो जाती है और इसके साथ-साथ वह घर का कार्य भी कर लेती है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages