दो दशक में भी टेल तक नहीं ले जा सके रजबहे का पानी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, November 30, 2020

दो दशक में भी टेल तक नहीं ले जा सके रजबहे का पानी

सिल्ट सफाई के नाम पर बजट खर्च

फतेहपुर, शमशाद खान । सिल्ट सफाई के बावजूद किसानों के लिए महत्वपूर्ण सुजानपुर रजबहे मे पिछले 20 सालों में अंतिम छोर तक पानी नहीं पहुंचा दो दशक के लंबे समय से आखरी छोर पर पानी न आने से किसानों को अब तक निराशा ही हाथ लगी है। किसानों ने आरोप लगाया है कि सिल्ट सफाई के नाम पर केवल बजट खर्च किया जा रहा है। कागजी बाजीगरी को अंजाम दिया जाता है। जबकि हकीकत में रजबहे के पानी का लाभ सभी किसानों को नहीं मिल पा रहा है। 


रजबहे का दृश्य।




विजयीपुर विकास खण्ड के सैकड़ों किसानों को फसलों के लिए सुजानपुर रजबहे का पानी अमृत सरीखा है। रजबहे का पानी सैकड़ों हेक्टर जमीन की सिंचाई का जिम्मेदार है लेकिन विभागीय कार्यशैली इसके लक्ष्यों को पूरा नहीं कर पा रही है। हालात यह है कि पिछले दो दशक से टेल तक पानी नहीं पहुंचने के कारण बहुत सी फसल असिंचित रह जाती हैं। जिसका खामियाजा कम उत्पादन के चलते अन्नदाताओं को भुगतना पड़ता है। क्षेत्र के अंजना भैरव, बहियापुर, रमसगरा, रामपुर, किशनपुर, रारी, सरौली और गढ़ा समेत अनेक गांव के किसान इस रजबहे पर निर्भर हैं।

सिल्ट सफाई में होता खेल

फतेहपुर। परमेश कुमार, शुभम दुबे, राम आसरे निषाद, शिवपूजन सिंह, विष्णु सिंह व राजा सिंह जैसे तमाम क्षेत्रीय लोगों ने आरोप लगाया कि सिल्ट सफाई के नाम पर खेल किया जाता है। ठीक तरह से सफाई न होने के कारण टेल तक पानी नहीं पहुंच पाता है। तर्क दिया है कि अगर सही तरीके से सिल्ट सफाई की जाए तो आखिरी छोर तक पानी पहुंच सकता है। ऐसा न होने के कारण किसानों को मजबूरन निजी नलकूपों से महंगे दामों में सिंचाई करनी पड़ती है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages