प्रबन्धक इलाहबाद यू पी ग्रामीण बैंक उपभोक्ता आयोग में तलब - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 17, 2020

प्रबन्धक इलाहबाद यू पी ग्रामीण बैंक उपभोक्ता आयोग में तलब

 बाँदा, के0एस0दुबे। ज़िला उपभोकता संरक्षण आयोग ने आदेश की अवमानना मामलों में कड़ा रुख अपनाते हुए प्रबंधक इलाहाबाद यू पी ग्रामीण बैंक नरैनी को एक मामले में कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए 1 दिसम्बर को व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है। 

मामला इस प्रकार था कि सितम्बर 2019 में कमल नयन त्रिपाठी पुत्र मुन्ना लाल निवासी देबिन नगर अतरा रोड नरैनी के पक्ष में निर्णय पारित  करते हुए आदेश दिया गया था कि प्रबन्धक इलाहबाद यू पी ग्रामीण बैंक एक माह के अंदर परिवादी की चेक के माध्यम से जमा  जमा राशि मु 10000 उसके नए खाता में प्रविष्टि कराए। बैंक को यह भी आदेश दिया गया था कि यदि परिवादी का चेक कही खो गया है तो उक्त धन राशि की नवीन चेक प्राप्त

करने के लिए विपक्षी स 2 प्रबंधक भारतीय जीवन बीमा निगम छ तर पर को पत्राचार करे। और परिवादी को हुई मानसिक क्षतिपूर्ति और वाद व्यय के लिए 5000 रू भी एक माह के अंदर अदा करें।  प्रबन्धक इलाहबाद यू पी ग्रामीण बैंक नरैनी ने आदेश का अनुपालन नहीं किया जिस पर वादी के अधिवक्ता लखन लाल साहू ने  उपभोकता संरक्षण अधिनियम में निहित प्राविधानों के अंतर्गत अवमानना  वाद  संस्थित कराया। अवमानना याचिका की सुनवाई करते हुए अध्यक्ष न्यायाधीश तूफानी प्रसाद और अनिल कुमार चतुर्वेदी सदस्य ने कहा कि प्रबन्धक इलाहबाद यू पी ग्रामीण बैंक नरैनी  द्वारा आयोग द्वारा पारित किए गए आदेश का लोप किया जा रहा है क्यों न दंडित किया जाए। कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा है कि प्रबन्धक इलाहबाद यू पी ग्रामीण बैंक नरैनी अनुपालन आख्या स्पष्टीकरण सहित दिनांक 1 दिसंबर को न्यायलय में उपस्थित होकर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages