वाणिज्यकर के तुगलकी फरमान का विरोध करेगा व्यापार मण्डल: किशन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, November 2, 2020

वाणिज्यकर के तुगलकी फरमान का विरोध करेगा व्यापार मण्डल: किशन

मुख्यमंत्री व कमिश्नर को भेजा जायेगा ज्ञापन 

फतेहपुर, शमशाद खान । उद्योग व्यापार मण्डल की बैठक में वाणिज्यकर विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर द्वारा व्यापारियों के उत्पीड़न की दिशा में कर निर्धारण को पुनः जांच कराये जाने के प्रस्ताव का विरोध किया गया। निर्णय लिया गया कि मुख्यमंत्री के साथ-साथ वाणिज्यकर कमिश्नर को ज्ञापन भेजकर व्यापारियों के सामूहिक उत्पीड़न को रोकने की मांग की जायेगी। 

बैठक करते व्यापार मण्डल के पदाधिकारी।

सोमवार को उद्योग व्यापार मण्डल की बैठक नीलकंठ पैलेस में आहूत की गई। बैठक में बताया गया कि जानकारी हुयी है कि वाणिज्य विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर द्वारा व्यापारियों के उत्पीड़न की दिशा में वित्तीय वर्ष 016/017 के कर निर्धारण को पुनः जांच कराये जाने का प्रस्ताव पारित किया गया है, जो किसी भी प्रकार से व्यापारियों के हित में नहीं है। कोरोना काल संकट से टूटा व्यापारी समाज वाणिज्य कर विभाग के तुगलकी फरमान की घोर निंदा करता है। रोष व आक्रोश के साथ व्यापारियों के उत्पीड़न हेतु ऐसे आदेश व प्रस्ताव को अविलम्ब निरस्त किये जाने की मांग करता है। बैठक की अध्यक्षता करते हुए संस्थापक अध्यक्ष किशन मेहरोत्रा ने कहा कि संगठन किसी भी प्रकार के व्यापारी उत्पीड़न को बर्दाश्त नहीं करेगा। ईट का जवाब पत्थर से देने में संगठन पीछे नहीं रहेगा। व्यापारी उत्पीड़न के ऐसे प्रस्ताव से व्यापारियों में विभाग के साथ स्थानीय सरकार के प्रति रोष पैदा कर रहा है। व्यापारी समाज अपना सूक्ष्म व्यापार करे या ऐसे तुगलकी फरमान पर विभाग के चक्कर काटे। जो बिल्कुल अन्यायपूर्ण है। शीघ्र ही अगर प्रस्ताव निरस्त नहीं किया गया तो व्यापार मण्डल मुख्यमंत्री व वाणिज्यकर कमिश्नर अमृता सोनी को मांग पत्र देकर जनपद में व्यापारियों के सामूहिक उत्पीड़न को रोकने की मांग करेगा। बैठक में राजेश वर्मा, अनिल वर्मा, प्रेमदत्त उमराव, चन्द्र प्रकाश बब्लू गुप्ता, मनोज साहू, कृष्ण कुमार तिवारी, सेराज अहमद खान, संजय श्रीवास्तव, अशरफ अली, अंचल रस्तोगी, सरदार गुरुमीत सिंह, मो0 असलम पदाधिकारी उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages