परिषद का प्रांतीय अधिवेशन बाइस को, बैठक में बनी रणनीति - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, November 1, 2020

परिषद का प्रांतीय अधिवेशन बाइस को, बैठक में बनी रणनीति

अधिवेशन को सफल बनाने के लिये राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भरा जोश 

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद की बैठक लाल बहादुर शास्त्री बालिका इंटर कालेज पनी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये संपन्न हुई। जिसमें 22 नवंबर को आयोजित प्रांतीय अधिवेशन व कार्यकर्ता सम्मेलन को सफल बनाने के लिये रणनीति तैयार की गई तथा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं में जोश भरा गया। बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा0 सुमंत गुप्ता ने कहा कि संगठन में समय-समय पर कार्यक्रमों के माध्यम से कार्यकर्ताओं को दिशा प्राप्त होती है। जिससे कार्यकर्ता व पदाधिकारी संगठन के प्रति सदैव जागरूक रहते है। इसलिये 22 नवंबर को जनपद में प्रांतीय अधिवेशन व कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसी तरह के आयोजनों से वैश्य समाज की शक्ति का एहसास होता हैं। 

बैठक को सम्बोधित करते परिषद के पदाधिकारी।

बैठक में अयाह शाह विधायक विकास गुप्ता ने कहा कि राजनीति में वैश्य समाज की सहभागिता आवश्यक है। वैश्य समाज के लोग राजनीति में बढ चढकर हिस्सा लें। जिससे वे किसी मुकाम को हासिल कर सकें। उन्होंने समाज को संगठित होने के लिये प्रेरित किया। राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष पंकज गुप्ता ने कहा कि राष्ट्रीय नेतृत्व ने 22 नवंबर के लिये जो अधिवेशन की जिम्मेदारी संगठन को दी है। उसका युवा टीम बखूबी निर्वाहन करते हुये कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना योगदान देंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष महिला कविता रस्तोगी ने कहा कि 22 नवंबर को कृष्णा लाज में आयोजित होने वाले प्रांतीय अधिवेशन और कार्यकर्ता सम्मेलन में महिलाओं की सहभागिता अधिक से अधिक हो इसके लिये हम सबको चिंतन करना होगा और कार्यक्रम को सफल बनाना होगा। बैठक की अध्यक्षता करते हुये परिषद के संरक्षक हीरालाल गुप्त ने कहा कि 22 को होने वाले आयोजन में जनपद के पदाधिकारी अभी से प्रयास करना शुरू कर दें। नियोजित ढंग से तहसील, ब्लाक व ग्रामों में जाकर वैश्य समाज को कार्यक्रम की जानकारी प्रदान करें। जिससे अधिवेशन सफल हो सके। बैठक का संचालन परिषद के राष्ट्रीय महासचिव विनोद कुमार गुप्त ने किया। इस मौके पर प्रमुख रूप से परिषद के संरक्षक विपिन बिहारी शरन, राम स्वरूप गुप्त, वेद प्रकाश गुप्ता, रामेश्वर दयालु गुप्ता, गंगा प्रसाद साहू, अरूण जायसवाल, शैलेंद्र शरन सिंपल, महिला जिलाध्यक्ष उमा शरन, राम बाबू गुप्त, मनीष गुप्त, उमाशंकर गुप्त, माया शिवहरे, राजकुमारी शरण, संजय गुप्त, नरेंद्र गुप्त, संजीव गुप्ता, अरुण गुप्ता सभासद, संजय मोदनवाल, सावन गुप्ता, नीटू गुप्त, आनंद गुप्ता, श्रवण गुप्ता, हरि चैरसिया आदि रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages