अद्भुत सांग प्रदर्शन देख आश्चर्य चकित रह गए देवी भक्त - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, October 25, 2020

अद्भुत सांग प्रदर्शन देख आश्चर्य चकित रह गए देवी भक्त

छोटे-छोटे बच्चे सांग से भेद लेते हैं शरीर

अष्टमी की रात से नवमी तक चलता सांगों का प्रदर्शन

बांदा, के एस दुबे  । बुंदेलखंड में धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में जो विशेषताएं पाई जाती हैं उसी के कारण बुंदेलखंड की न केवल यूपी बल्कि पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान है। शारदीय नवरात्र पर जो भक्त मां से जिस चीज की कामना करते हैं वह पूरी होती है। इसलिए मां के भक्त भी मां के प्रति कृतज्ञता प्रकट करने में कोई कमी नहीं रखते। 

मातारानी के दरबार में देवी गीत गाते भक्त

अष्टमी और महानवमी के दिन मां के भक्तों ने लोहे की सांग अपने गले, गाल और होठों में छेदकर मां के प्रति आस्था का प्रदर्शन किया। वहीं इसके बाद महिलाओं ने जवारा विसर्जन करके नवरात्र महोत्सव का समापन किया। बुंदेलखंड में शारदीय नवरात्र का पर्व जिस श्रद्धा और आस्था के यहां मनाया जाता है वैसा उदाहरण कहीं और जल्दी से देखने को नहीं मिलता। कोरोना संकट के बावजूद शहर में करीब एक सैकड़ा देवी प्रतिमाओं की स्थापना और मंदिरों में होने वाली देवी भक्तों की भीड़ के साथ ही सांगों का अद्भुत प्रदर्शन काबिले तारीफ होता है। महाष्टमी की रात से शुरू होने वाले सांग प्रदर्शन का कार्यक्रम देख लोग दांतों तले अंगुलियां दबा लेते हैं। यहां बुजुर्ग 50 से 60 किलोग्राम तक की सांग मां का एक जयकारा बोलकर अपने गालों में ऐसे भेद लेते हैं जैसे कुछ हुआ ही न हो। मां के इन भक्तों में किशोर वर्ग भी शामिल होता है। जिनकी उम्र बमुश्किल 8 से 15 वर्ष के बीच होती है। यह बच्चे 20 से 25 किलो तक की सांग हंसते-हंसते गाल और गले में न केवल छेद लेते हैं बल्कि मां का जयकारा बोलते हुए महेश्वरी देवी चैक में ढोल और नगाड़ों की थाप पर नृत्य का प्रदर्शन भी करते हैं। दर्शक भी मां के जयकारे बोलते हुए इन्हें प्रेरित करते हैं। सुरक्षा व्यवस्था के लिए भारी मात्रा में पुलिस फोर्स यहां तैनात किया गया था। एक के बाद एक मां के भक्त सांगों का प्रदर्शन करते देखे गए। वहीं सुबह महिला-पुरुषों की टोलियां जवारा लेकर निकल पड़ीं और मंदिरों में मां दुर्गा का जवारा अर्पित कर महोत्सव का समापन किया। ढ़ोल ताशों की धुन के बीच जवारा लेकर महेश्वरी देवी मंदिर में पहुंचे भक्तों ने जवारों का विसर्जन किया और मां की भक्ति में सुधबुध खोकर झूमकर नृत्य किया।

शनिवार की रात को सांग भेदते देवी भक्त

बांदा। शहर के कटरा मोहल्ला स्थित मां सिंहवाहिनी के दरबार में भी इन दिनों नवरात्र का खुमार जोरों पर है। रविवार की सुबह मां सिंहवाहिनी के दरबार में भक्तों के हुजूम ने विशेष मंगला आरती आयोजन किया। मंगला आरती के बाद मंदिर कमेटी की ओर से मां के दरबार मंे छप्पन भोग का प्रसाद भेंट किया गया। मंगला आरती के दौरान मां के भक्तों की खासी भीड़ उमड़ी और सभी ने मां के दरबार में अपनी हाजिरी लगाई। मंदिर कमेटी के प्रबंधक प्रद्युम्न कुमार लालू दुबे बताते हैं कि वैसे तो नवरात्र में कमेटी की ओर से पूरे नौ दिन कन्या भोज व भंडारा का आयोजन किया जाता रहा है, लेकिन इस वर्ष कोरोना संकट के चलते कन्या भोज को स्थगित रखा गया था। रविवार को मां सिंहवाहिनी को छप्पन भोज का प्रसाद भेंट किया गया। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages