सत्य व अहिंसा का मार्ग आज भी प्रासंगिक: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, October 2, 2020

सत्य व अहिंसा का मार्ग आज भी प्रासंगिक: डीएम

कलेक्ट्रेट में गांधी, शास्त्री की जयंती पर देशभक्ति गीत, रामधुन, प्रतियोगिता आदि के हुए कार्यक्रम

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री की जन्म जयंती मनाई गई।

जिलाधिकारी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र का अनावरण कर गांधी जी व शास्त्री जी के चित्र में माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि गांधी जी विशाल व्यक्तित्व के धनी थे। वह पहले अपने जीवन में किसी समस्या को उतार कर दूसरों को देते थे। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने गांधी जी के आदर्शों को जीवन पर उतारा है। चाहे वह जय जवान, जय किसान का नारा हो या अन्य कोई गतिविधियां। उनके जो विचार थे वह बहुत अमूल्य थे। महात्मा गांधी जी ने आत्मनिर्भर भारत बनाने का कार्य किया जो आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुछ दिन पहले आत्मनिर्भर भारत की योजना लागू की है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के सत्य का प्रयोग हो रहा है। उन्होंने जो सत्य व अहिंसा का रास्ता दिखाया है वह आज भी प्रासंगिक है। जितना

पुरस्कृत करते डीएम।

उस समय था आज हम उनके दिए गए आर्दशों को लेकर चलें भारत सरकार और प्रदेश सरकार में जो नीतियां बन रही है उसमें निश्चित रूप से गांधी जी के ही पद चिन्हों पर बनाई जा रही हैं। उन्होंने परतंत्रता से स्वतंत्रता दिलाई। आने वाली पीढ़ियों को जागरूक करने की जरूरत है कि वह महात्मा गांधी के जीवन को जाने व पहचाने। तभी समाज का उत्थान होगा। अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह ने कहा कि दोनों महान विभूतियों के कृतित्व एवं व्यक्तित्व अभूतपूर्व है। इनके विचारों पर चलकर देश को आगे बढ़ाएं। वरिष्ठ कोषाधिकारी शैलेश कुमार ने कहा कि इन महापुरुषों ने देश को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। बुराइयों से दूर रहकर सामाजिक सेवा कर सकते हैं। अध्यात्मिक विकास पर जब कार्य करेंगे तो सामाजिक विकास कर पाएंगे। एआईजी स्टांप उमेश चंद्र गुप्ता ने कहा कि यह दोनों देश की महान विभूतियां हैं। इन्होंने देश हित पर बहुत कार्य किया है। इनके बताए हुए रास्ते पर चलें तो हम समाज की सेवा कर सकते हैं। सहायक कोषाधिकारी अवधेश प्रताप सिंह ने कहा कि गांधी जी व लाल बहादुर शास्त्री जी के पास कोई प्रश्न आता था तो वह पहले अपने जीवन पर उतारकर निस्तारण करते थे। हम आज जिस पद पर सेवा कर रहे हैं तो इन महापुरुषों के 10 प्रतिशत ही उनके आदर्शों पर चलकर समाज की सेवा कर रहे हैं। इनके आदर्शों पर चल कर कार्य करेंगे तो इन महान विभूतियों की सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

इस अवसर पर अपर उप जिलाधिकारी राजबहादुर, कलेक्ट्रेट के न्याय सहायक अवध नारायण, प्रेमचंद तथा कोषागार के अशोक कुमार गुप्ता ने भी अपने विचार व्यक्त किए। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की शिक्षिकाओं व छात्राओं ने देशभक्ति गीत और रामधुन की प्रस्तुति दी। अधिशासी अभियंता प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना प्रकाश सिद्धार्थ ने बांसुरी वादन के माध्यम से आजादी के गीत को प्रस्तुत किया। उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आरके चैरिहा ने देश भक्ति गीत गाया। कार्यक्रम का संचालन कलेक्ट्रेट के आयुध सहायक मनोज कुमार मिश्रा ने किया। जिलाधिकारी ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की शिक्षिकाओं व छात्राओं को पुरस्कृत भी किया। इस अवसर पर कलेक्ट्रेट के सभी अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages