भारत की मजबूरी ना दो गज दूरी ना मास्क जरूरी................ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, October 22, 2020

भारत की मजबूरी ना दो गज दूरी ना मास्क जरूरी................

देवेश प्रताप सिंह राठौर

 (वरिष्ठ पत्रकार)

............. आज हमारे देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी कोरोना के संबंध में जो लड़ाई में विश्व में भारत कोरोना संक्रमित में सुधार में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है ।और मृत्यु दर भी करो ना कि भारत में बहुत कम है। परंतु देश के प्रधानमंत्री जी ने कहा मैं देख रहा हूं कि बहुत से लोग इस तरह मार्केट में बहुत से स्थानों पर घूमते हैं जैसे कोरोना का समय समाप्त हो गया है। परंतु कोरोना अभी गया नहीं है अभी हमें नियम का पालन करना होगा मास्क लगाना होगा और दो गज की दूरी बनाए रखनी होगी। आज विश्व के अनेक देशों में जहां पर कोरौना की गति कम हुई थी वहां पर अब दोबारा कोरोना संक्रमित लोग तेजी से हो रहे हैं।इसलिए हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने चिंता व्यक्त की और देश के लोग जिस तरह से लापरवाही कर रहे हैं उनको यह समझने की जरूरत है कि कोरोना अभी गया नहीं है।आज उन्होंने देश की हालात को देखकर प्रधानमंत्री जी ने जिस तरह लोगों को पुनः समझाने का


कार्य किया है परंतु जनता इस देश की समझेगी नहीं मुझे पूरा विश्वास है। भारत देश में लोग जिस तरह से लापरवाही कर रहे हैं इतने लाउडस्पीकर लगे हैं जगह-जगह समझाया जा रहा है किसी को फोन करो तो पहले यही टोन लगी है कि दो गज दूरी मास्क  उसके बावजूद भी लोग नहीं मान रहे हैं यह अच्छे संकेत नहीं है। जब तक कोरो ना कि वैक्सीन नहीं बन जाएगी तब तक हमें सुरक्षित और नियम के पालन करने होंगे।...प्रधानमंत्री जी ने अपने संबोधन में कहा जैसे भी वैक्सीन आएगी उसकी पूरे देश में हर जगह पहुंचाने का कार्य किया जाएगा और जब तक वैक्सीन नहीं बनती है आपको नियमों का पालन करते हुए कार्य करने होंगे....... प्रधानमंत्री जी ने जो संबोधन किया देश को समझाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं और हर समय समय पर दिशा निर्देश माननीय प्रधानमंत्री जी दिया करते हैं। परंतु वह लोग हैं जोक सरकार की नीतियों के विरुद्ध अच्छी बात को जनहित की बात को भी जमाती किस्म के लोग नहीं मानते हैं उनके द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों की अवहेलना करना उनका धर्म है।अब मैं आप लोगों को बताना चाहता हूं 2 गज दूरी मास्क जरूरी यह हिंदुस्तान में किसी ऑफिस में किसी कार्यालय में किसी दुकान में किसी भी सरकारी विभाग में और किसी भी प्राइवेट विभाग में यह दो गज दूरी का पालन नहीं हो रहा है।मैंने बहुत से ऑफिसों का निरीक्षण किया गोपी तरीके से मैंने जानकारी अपने साथी पत्रकारों के माध्यम से जानना चाहा मेरे पास बहुत सी तस्वीरें आई जिसमें मैंने यह देखा कि दो गज दूरी तो बहुत होती है , एक फुट की दूरी पर आदमी बैठा मिलता है वह भी बिना मास्क लगाएं आपस में बात करते हैं । अगर देश के नियमों की बात करें 2 गज दूरी के हिसाब से अगर हर जिले का जिलाअधिकारीसरकारी विभाग या प्राइवेट विभाग का आकाश में निरीक्षण करें तो उसे असलियत पता चलेगी 2 गज दूरी और कोई है या नहीं है।भारत देश में बहुत सी अनियमितताएं हैं जो आप इसमें नियम का पालन कर रहा है उसका ऑफिस में लोग माखौल उड़ाते हैं। इसलिए बहुत से लोग पालन नहीं कर रहे हैं। बहुत से ऐड आते हैं जिसमें करो नाशक वित्त के बारे में बताते हैं महासके जरूरी 2 गज दूरी यह सिर्फ सुनने हो कहने में अच्छा लगता है लेकिन इस भारत देश में दोनों चीजों का पालन नहीं हो रहा है। 2 गज दूरी 1 मीटर से थोड़ा सा कम होता है गाजी अभी सब लगा लीजिए जब आप कपड़े लेने जाते हैं दो मीटर कपड़े की लंबाई थोड़ा सा कम कर दीजिए कितना डिस्टेंस बनता है वह आपको समझ में आ जाएगा। इसलिए मैं स्पष्ट तौर पर कह सकता हूं कोरोना संक्रमित समय जो चल रहा है भारत में कंट्रोल है मृत्यु दर भी कम है परंतु लापरवाही बहुत अधिक है। क्योंकि बहुत से देशों में कोरोना संक्रमित काम की स्थित में हो गया था आज उन देशों में कोरो ना फिर से तेजी से गति पकड़ लिया है। इन हालातों को देखते हुए आज प्रधानमंत्री  जी ने जो अपने   देश के नाम संदेश में देश की जनता को दिया की मास्क जरूरी हो  दो गज दूरी बनाकर रहना है। लापरवाही नहीं करना है परंतु उनको कैसे समझाया जाए जो आप इसमें जमाती किसके लोग बैठे हुए हैं तो ना मास्क लगाते हैं ना तो मजदूरी बनाते हैं क्योंकि वह उस विभाग के सुपरमैन है उनके आदेश को छोटा कर्मचारी मानता है क्योंकि वह है इसलिए मानता है कि नौकरी कर रहा है उनके वरिष्ठ अधिकारी हैं लेकिन सरकार को देखना चाहिए विभागों का निरीक्षण करना चाहिए कि 2 गज दूरी मास की जरूरी यह कहां का इसका इस्तेमाल हो रहा है बहुत सी चीजें अभी लापरवाही है अगर इसी तरह से लापरवाही रही है मैं विश्वास दिलाता हूं कोरोना संक्रमित अगर भारत में दोबारा गति बढ़ी तो भारत को संभालने में बहुत दिक्कत सरकार को उठानी पड़ेगी इसलिए अभी से इतनी शक्ति होनी चाहिए जिससे लोग मास्क जरूरी है दो गज तूरी का पूर्ण रुप से पालन करें यही मेरी जनता से और सरकार से मांग हैकोरोना के खिलाफ लड़ाई में जनता कर्फ्यू से लेकर आज तक हम भारतवासियों ने बहुत लंबा सफर तय किया है प्रधानमंत्री जी  ने अपने संबोधन में कहा ,समय के साथ आर्थिक गतिविधियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। हम में से अधिकांश लोग,  अपनी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए,  फिर से जीवन को गति देने के लिए,  रोज घरों से बाहर निकल रहे हैं। त्योहारों के इस मौसम में बाजारों में भी रौनक धीरे-धीरे लौट रही है:

लेकिन हमें ये भूलना नहीं है कि लॉकडाउन भले चला गया हो,  वायरस नहीं गया है।  बीते 7-8 महीनों में,  प्रत्येक भारतीय के प्रयास से,  भारत आज जिस संभली हुई स्थिति में हैं,  हमें उसे बिगड़ने नहीं देना है।दुनिया के साधन-संपन्न देशों की तुलना में भारत अपने ज्यादा से ज्यादा नागरिकों का जीवन बचाने में सफल हो रहा है। कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में टेस्ट की बढ़ती संख्या हमारी एक बड़ी ताकत रही हैसेवा परमो धर्म: के मंत्र पर चलते हुए डॉक्टर ,नर्स, हेल्थ वर्कर सफाई कर्मीकुछ कोरो ना कॉल में अपना-अपना कार्यों को पूर्ण रूप से इमानदारी के साथ  इतनी बड़ी आबादी की निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं। इन सभी प्रयासों के बीच,  ये समय लापरवाह होने का नहीं है।  ये समय ये मान लेने का नहीं है कि कोरोना चला गया,  या फिर अब कोरोना से कोई खतरा नहीं हैहाल के दिनों में हम सबने बहुत सी तस्वीरें,  वीडियो देखे हैं जिनमें साफ दिखता है कि कई लोगों ने अब सावधानी बरतना बंद कर दिया है। ये ठीक नहीं है। बहुत से देशों में कोरोना का समय धीरे-धीरे कम होने की जगह अब फिर कोरोना संक्रमित की संख्या बढ़ने लगी है। भारत की आबादी विश्व में दूसरे नंबर पर है। इस लिए चिंता का विषय है कोई भी व्यक्ति कोरो ना संक्रमित बीमारी के सरकार द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों पर कार्य नहीं हो रहा है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages