कार्य बहिष्कार के दौरान बिजली कर्मियों का जोरदार प्रदर्शन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, October 5, 2020

कार्य बहिष्कार के दौरान बिजली कर्मियों का जोरदार प्रदर्शन

सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक कार्य बहिष्कार, विरोध सभा का आयोजन किया 

बांदा, के एस दुबे । निजीकरण का विरोध कर रहे बिजली अधिकारियों और कर्मचारियों ने सोमवार को पहले दिन सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक कार्य बहिष्कार किया और विरोध सभा कर निजीकरण को रद्द किए जाने की मांग की। कार्य बहिष्कार में जनपद के बिजली विभाग के ट्रांशमिशन और वितरण सहित सभी कार्यलयों के कार्मिक शामिल हुए। 

कार्य बहिष्कार के दौरान धरने पर बैठे बिजली कर्मचारी

निजीकरण का विरोध करते हुए विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले सोमवार को बिजली अधिकारियों, कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार किया। विरोध सभा की अध्यक्षता अधीक्षण अभियंता इं. एस. मिश्रा ने की। निजीकरण के विरोध में चल रहे आंदोलन में लेखपाल संघ, बैंक यूनियन, लोक निर्माण संघ, सिंचाई विभाग, कर्मचारी संघ, रोडवेज कर्मचारी संघ, तृतीय श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ, ग्राम विकास/पंचायत अधिकारी संघ, चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ सहित प्रदेश के सभी आम नागरिकों, कर्मचारी संघों ने सहयोग के लिए पत्र सौंपकर आंदोलन को मजबूत किया। विरोध सभा को संबोधित करते हुए इं. एके सविता ने कहा कि बिजली विभाग रात-दिन आम नागरिकों एवं प्रदेशवासियों की सेवा करता है। विद्युत विभाग लाभ का जरियान होकर जनसेवा का कार्य है। इसलिए इसका निजीकरण करके मजदूर, किसानों का उत्पीड़न बंद करें। इं. पीयूष द्विवेदी ने कहा कि निजीकरण भारती यंविधान, लोकतंत्र की हत्या है। सार्वजनिक क्षेत्रों के निजीकरण से भारत में पूंजीवादी व्यवस्था हावी हो जाएगी। सरकारी नौकरियां न रहने से शोषित व वंचित तबके की उन्नति एवं मुख्य धारा में आने के समस्त मार्ग बंद हो जाएंगे। सभा को संबोधित करते हुए इं. कांता प्रसाद ने कहा कि निजीकरण की व्यवस्था भारतीय, सामाजिक तंत्र को नष्ट कर देगी, जिसके कारण आम नागरिकों, किसानों, मजदूरों एवं छात्रों के व्यापक हित प्रभावित होंगे। विद्युत विभाग एवं राष्ट्र की रक्षा के लिए अब सभी बिजली कर्मी पूर्णाहुति के लिए तत्पर हैं। सभा को अनिल यादव के अलावा अन्य लोगों ने भी संबोधित किया। कहा कि यदि प्रदेश और केंद्र सरकार बिजली विभाग के प्रस्तावित निजीकरण के फैसले को वापपस नहीं लेती तो संयुक्त संघर्ष समिति के नेतृत्व में पूरे प्रदेश के बिजली अधिकारी और कर्मचारी पूर्ण हड़ताल एवं जेल भरो आंदोलन करेंगे। कार्यक्रम का संचालन आलोक शर्मा ने किया। कार्य बहिष्कार में इं. केके भारद्वाज, शारदा प्रसाद, रविकांत वर्मा, अजय सविता, सत्यप्रकाश, वीके मिश्र, अमित यादव, शत्रुघन चैहान, दिलीप कुशवाहा, मोहम्मद सिद्दीक अहमद, योगेंद्र यादव, ज्ञानेश कुमार, बीके चैधरी, अमित मिश्रा, श्याम मिश्रा, आरपी सिंह, सुनील पटेल, राजेश श्रीवास, रामलाल पाल, अवधेश यादव, आनंद पाल, कमाल अहमद, कृष्ण कुमार, महेश, अशोक, विजय, राकेश, संजय, रवि, राजीव, पप्पू, विनय समेत जिले के समस्त बिजली अभियंता, अधिकारी, कर्मचारी सम्मिलित हुए। 

कार्य बहिष्कार के दौरान धरने पर बैठे बिजली कर्मचारी

बांदा। केंद्रीय अध्यक्ष के आवाहन पर सोमवार को बिजली कर्मियों ने निजीकरण के विरोध में जिला परिषद से पीली कोठी तक कैंडिल मार्च निकाला। बिजली कर्मियों ने निजीकरण का विरोध करते हुए कार्य बहिष्कार किया। उनका कहना है कि निजीकरण से शोषण बढ़ेगा। निजीकरण न तो जनता के हित में है और न ही बिजली अधिकारियों और कर्मचारियों के ही हित में है। कैंडिल मार्च के दौरान आरबी खरे केंद्रीय संयुक्त मंत्री, डीएस तिवारी केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य, कल्लू प्रसाद यादव, सुशील कुमार अग्रवाल क्षेत्रीय महामंत्री, हरिकांत त्रिपाठी केंद्रीय कार्यकारिणी, एफआर चिश्ती उपाध्यक्ष, अमरचंद्र गुप्ता मंडल महामंत्री, एहसानुज्जमा क्षेत्रीय कार्यवाहक, संतोष कुमार निगम, बीएन कुशवाहा, मुकेश बाबू सक्सेना, शायदा परवीन, रामकरन, शैलेंद्र कुमार, सोमेश साहू, चंदन त्यागी, गुड्डू माहौर, सरिता प्रजापति, राखी पाटकर, दीपिका यादव, मुकेश पुष्पक, ललित कुमार, वैभव सिंह, गोविंद पटेल, बृजेश कुमार, अतुल कुमार, जानकी प्रसाद, अरुण कुमार अध्यक्ष, नरेंद्र त्रिपाठी, अचिन, आकाश, रिजवान, हिफाजत अली, अव्वास, सहरुन, जत्तो, माधुरी, अभिषेक, संजय वर्मा, अजीमुल हक, रामलखन, कमलेश कुमार, जगरानी, पूनम, गुड्डो आदि मौजूद रहे।

सेवानिवृत्त और संविदा कर्मचारियों के हवाले रहे विद्युत उपकेंद्र

बांदा। निजीकरण के विरोध में पावर कारपोरेशन अभियंताओं और कर्मचारियों के कार्य बहिष्कार किए जाने के बाद बिजली सब स्टेशनों की जिम्मेदारी सेवानिवृत्त फौजियों ने बतौर एसएसओ संभाली। संविदा में तैनात लाइनमैनों अपने दायित्वों का निर्वाहन किया। तहसील अंतर्गत आने वाले सभी सब स्टेशनों में संविदा पर तैनात सेवानिवृत्त फौजियों ने एसएसओ का कार्यभार देखा। संविदा में तैनात लाइनमैनो ने भी अपने दायित्वों का निर्वहन किया। एसडीएम पैलानी रामकुमार ने विद्युत उपकेंद्रों का निरीक्षण किया। साथ ही कर्मचारियों को विद्युत उपकेंद्र में उपस्थित रहने के निर्देश दिए। विभिन्न थाना क्षेत्रों के सब इंस्पेक्टरों और प्रभारी निरीक्षक ने विद्युत उपकेंद्र में डेरा जमाए रहे। उधर, नायब तहसीलदार राजेश यादव ने ने चिल्ला और पलरा गांव स्थित सब स्टेशनों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। क्षेत्राधिकारी अजय भदौरिया व थानाध्यक्ष रामाश्रय सिंह मय फोर्स के साथ सब स्टेशनों पर तैनात रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages