जनपद के थानों में तीन घंटे की इंसपेक्टर बनीं छात्राएं - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, October 24, 2020

जनपद के थानों में तीन घंटे की इंसपेक्टर बनीं छात्राएं

बतौर कोतवाल निपटाया काम, मातहतों को दिए निर्देश 

मास्क न लगाए लोगों को दी हिदायत, स्वच्छता पर दौड़ाई नजर 

बांदा, के एस दुबे । जनपद के विभिन्न थानों में शनिवार को शासन द्वारा संचालित मिशन शक्ति अभियान के तहत तीन-तीन घंटे के लिए छात्राओं को इंसपेक्टर बनाया गया। जनपद के विभिन्न थानों में छात्राओं ने कुर्सी संभाली और अपने कामकाज को इंसपेक्टर के तौर पर अंजाम दिया। बबेरू में जेपी शर्मा इंटर कालेज की कक्षा नौ की छात्रा जूही कसौंधन शुक्रवार को तीन घंटे की बबेरू कोतवाली प्रभारी बनाई गईं। कुर्सी संभालते ही छात्रा ने बतौर इंसपेक्टर काम निपटाया और परिसर को स्वच्छ बनाए रखने के साथ ही मातहतों को मास्क लगाए जाने की बात कही। इसके अलावा देहात कोतवाली, जसपुरा, पैलानी, अतर्रा, कमासिन आदि थानों में भी छात्राओं को तीन घंटे का इंस्पेक्टर बनाया गया। 

तीन घंटे की कोतवाल जूही कोतवाली में कामकाज निपटाते हुए

बबेरू में छात्रा जूही कसौंधन पुत्री ओमप्रकाश को उप जिलाधिकारी सौरभ शुक्ला और क्षेत्राधिकारी आनंद कुमार की मौजूदगी में तीन घंटे का कोतवाल बनाया गया। वहां पहुंचते ही पुलिस कर्मियों ने कोतवाल को सैल्यूट कर कोतवाली प्रभारी की कुर्सी पर बैठाया। बतौर कोतवाल जूही ने फरियादियों की समस्याएं सुनीं। इस दौरान मारपीट
खत्रीपहाड़ मेले में खोई बच्ची मां को सौंपती तीन घंटे की इंसपेक्टर महक

और रास्ते में अवैध कब्जा के दो मामले आए। इस पर तत्काल शिकायती प्रार्थना पत्र पर कार्रवाई किए जाने का आदेश अंकित करते हुए एक दिन कोतवाल ने मौके पर पुलिस बल भेजकर दोनो मामलों का तत्काल निस्तारण कराया। इसमें ग्राम भांटी की पीड़ित महिला का भी एक मामला शामिल था। इसके अलावा अन्य फरियादियों की समस्याओं को भी सुना गया। एक दिन की कोतवाल जूही ने कोतवाली के मेस, कंप्यूटर कक्ष, आफिस, महिला हेल्प लाइन सेंटर का निरीक्षण किया और कोतवाली को स्वच्छ रखने के निर्देश दिए। वहीं मेस के फालवर को भोजन बनाने में सफाई का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। महलिाओं, लड़कियों की संरक्षा व सुरक्षा तथा उनकी
जसपुरा थाने में तीन घंटे की इंसपेक्टर महिलाओं से बातचीत करते हुए

समस्याओं के निस्तारण के निर्देश भी दिए। इधर, कोतवाल जयश्याम शुक्ला ने छात्रा को आर्थिक व्यवस्था में मदद का आश्वासन दिया। प्रधानाचार्य डा. अनिल सिंह ने छात्रा को ड्रेस और पुस्तकें उपलब्ध कराने की बात कही। इस दौरान व्यापार मंडल अध्यक्ष सुधीर अग्रहरि, बसंत गुप्ता, विपुल गुप्ता के अलावा थाने का पुलिस बल मौजूद रहा। इसी तरह जनपद के गिरवां थाने में तीन घंटे की कोतवाल बनाई गई महक अग्निहोत्री ने खत्री पहाड़ मेला परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान अपनी मां से बिछड़ी एक तीन वर्षीय बच्ची को खोजने के लिए मेला केंद्र में बने खोया-पाया केंद्र में पहुंचकर बच्ची को खोजकर मां के सुपुर्द कराया। इसी तरह कोतवाली देहात, जसपुरा, पैलानी, अतर्रा, बिसंडा, फतेहगंज, मरका, कमासिन, तिंदवारी आदि थानों में भी तीन-तीन घंटे के कोतवाल बनकर छात्राओं ने कुर्सी संभाली और फरियादियों की समस्याएं सुनकर उनका निस्तारण कराया। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages