संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान का शुभारंभ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, October 1, 2020

संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान का शुभारंभ

सीएम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मुख्यमंत्री ने विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के तृतीय चरण के वर्चुअल लांचिंग शुभारंभ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किया।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के साथ अंतर विभागीय के जन सहयोग से संचारी रोग नियंत्रण का लगातार तीन वर्ष से कार्यक्रम चल रहा है। जिसमें अच्छे परिणाम आए हैं। पहले प्रदेश के 38 जनपदों पर हजारों मौतें होती थी और मौत के आंकड़े नियंत्रण में नहीं आ रहे थे। मार्च 2017 में जब से भाजपा सरकार बनी तो स्वास्थ्य विभाग के साथ अंतर विभागीय समन्वय का गठन किया गया। जिसमें स्वयंसेवी संगठनों, डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ आदि का सहयोग मिला है। जिसमें दिमागी बुखार सहित अन्य रोगों पर नियंत्रण हुआ है। सभी विभाग मिलकर अच्छा कार्य किया है। मस्तिष्क ज्वर की बीमारी को 40 व 45 वर्षों से पूर्वी उत्तर प्रदेश की जनता ने इस समस्या से गुजरे हैं जो मुख्य कारण शासकीय उपेक्षा के शिकार थे। विभागों ने अपने कर्तव्य को निभाया तो आज इसका परिणाम प्रदेश में अच्छा आया है। जिसमें वर्ष 2016 में दिमागी बुखार के मरीज 4353 में 715 मृत्यु, वर्ष 2017 में 54 17 में 748 मृत्यु,

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मौजूद डीएम व अन्य अधिकारी।

वर्ष 2020 में 823 में से 25 मृत्यु हुई। यह सफलता की एक नई कहानी है। इस बीमारी का बचाव सावधानी ही है। यह अंतर विभागीय समन्वय की ही देन है कि दिमागी बुखार सहित अन्य बीमारियों पर काबू पाया गया। डब्ल्यूएचओ एवं यूनिसेफ ने स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर अच्छा कार्य किया। स्वच्छ भारत मिशन में प्रत्येक परिवार को एक-एक शौचालय दिया गया। जिससे कि लोग खुले में शौच से मुक्त के साथ रोगों के बचाव कर सकें। ग्राम व शहर पर व्यापक पैमाने पर शौचालय बनाए गए हैं। ओडीएफ के लक्ष्य को प्राप्त किया। शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए हैंडपंप, पाइप लाइन के माध्यम से व्यवस्था की गई। कोरोना वायरस को देखते हुए अधिकारी, कर्मचारियों ने अपने दायित्वों को निभाया है। जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जिन विभागों को जो लक्ष्य दिया गया है उनको शत-प्रतिशत पूर्ण कराएं। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होना चाहिए। प्रदेश में एंबुलेंस सेवा को सक्रिय किया गया और व्यापक पैमाने पर स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दवाएं आदि उपलब्ध कराई गई हैं। इस दौरान संक्रमण का काल चल रहा है। इसमें सावधानी बरतने की जरूरत है। आने वाले त्योहारों पर भीड़भाड़ से बचे। दो गज की दूरी, मास्क जरूरी को अपनाएं। जिन बच्चों को टीके नहीं लगे हैं उन्हें सावधानी बरतते हुए टीके लगाएं। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान एनआईसी में जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ इम्तियाज को निर्देश दिए कि 31 अक्टूबर तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम का अभियान चलाया जाना है। शासन की गाइड लाइन के अनुसार सभी कार्य कराए जाएं। इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी धु्रव कुमार, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मुकेश पहाड़ी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी मनोज कुमार यादव, बाल विकास परियोजना अधिकारी शहर बीएल गुप्ता सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages