दुव्र्यवहार से बढ़ती है मानसिक परेशानी: डा. पाल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, October 10, 2020

दुव्र्यवहार से बढ़ती है मानसिक परेशानी: डा. पाल

मास्क के साथ दो गज की दूरी है बहुत जरूरी 

कोरोना वारियर्स को प्रमाण पत्र देकर किया सम्मानित

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर गोष्ठी आयोजित  

बांदा, के एस दुबे । मानसिक रोगियों के साथ हमेशा अच्छा व्यवहार करना चाहिए, क्योंकि उनकी उपेक्षा से बीमारी ठीक होने की बजाय और बढ़ सकती है। कोरोना काल में मास्क के साथ दो गज की दूरी रखना बेहद जरूरी है। नियमित तौर पर हाथों को बार-बार सेनेटाइज करें। यह बातें शनिवार को जिला अस्पताल परिसर में विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर आयोजित गोष्ठी में नोडल डा. एमसी पाल ने कहीं। 

प्रमाण पत्रों के साथ कोरोना वारियर्स

डा. पाल ने कहा कि मानसिक रोगियों के प्रति दया का भाव रखें। क्योंकि ऐसे में उनसे किया जाने वाला व्यवहार, झाड़-फूंक, देवी-देवताओं का प्रकोप समझना, जादू टोना एक और भ्रम की स्थिति उत्पन्न करती है जिसका प्रभाव मानसिक रोगी पर ज्यादा पड़ता है। इस मौके पर एसीएमओ डा. आरएन प्रसाद ने कहा कि यदि परिवार का कोई व्यक्ति मानसिक रोग से ग्रसित हो जाता है तो किसी मनोचिकित्सक से परामर्श लेकर, रोगी के साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार करके  तथा ऐसे रोग के समस्त लक्षणों को इलाज द्वारा कम करते हुए नियंत्रित किया जा सकता है। मानसिक रोगों के प्रति  लोगों को अधिक जागरुक होने की आवश्यकता है। 

मनोचिकित्सक डा. हरदयाल ने कहा कि मानसिक रोग भी अन्य बीमारियों की तरह है। इसे छिपाए नहीं बल्कि इलाज के लिए आगे बढ़ें। क्लीनिकल साइकोलाजिस्ट डा. रिजवाना हाशमी ने कहा कि तनाव की स्थिति में स्वयं पर विश्वास रखे, अपने शरीर का ध्यान  रखे, पौष्टिक आहार लें, व्यायाम करें, धूम्रपान एवं नशे का सेवन न करें, संगीत सुनें, योग करें और चिकित्सक से सलाह लें। सीएमएस डा. उदयभान सिंह ने सभी का आभार जताया। गोष्ठी में कोरोना वारियर्स को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। मानीटरिंग आफीसर नरेंद्र मिश्रा, भाजपा जिला उपाध्यक्ष धर्मेंद्र त्रिपाठी, साइकाटिक नर्स त्रिभुवन नाथ, अनुमप त्रिपाठी, वर्षा गुप्ता, वंदना, विपिन, अशोक, चंद्रेश गुप्ता आदि उपस्थित रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages