पुलिस ने अतर्रा की बेटी हत्याकांड का किया खुलासा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Thursday, October 15, 2020

पुलिस ने अतर्रा की बेटी हत्याकांड का किया खुलासा

पति सहित एक सहयोगी गिरफ्तार, एक अभी भी फरार,घटना में प्रयुक्त कारतूस के खोखे बरामद

पीड़ित परिवार ने मुकामी पुलिस पर उठाई उंगलियां,असल घटना को झुठलाने के लगाए आरोप

अतर्रा(बाँदा), के एस दुबे । बदौसा पुलिस ने अतर्रा की बेटी का ससुरालीजनों द्वारा निर्दयता पूर्वक की गई हत्या का राज फास कर दिया।उन्होंने पति,सास सहित एक अन्य को दहेज हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है।लेकिन पुलिस के इस राज फास में मायका पक्ष व ग्रामीणों को छेद ही छेद दिखाई दे रहे है। इस बात को लोगो ने दबी जुबान से बताया है।लोगो का कहना है कि इतनी बड़ी व वीभत्स घटना को पुलिस अपने हिसाब से देख रही है। पीड़ित परिवार का आरोप यह भी है कि मुकदमा लिखते समय थानाध्यछ बदौसा ने खुद बोलकर तहरीर लिखाई थी इसलिए घटना के मूल तत्व मुकदमे की फेहरिस्त से गायब है।

    अतर्रा निवासी स्व: रामभवन की 28 वर्षीय पुत्री सुनीता की शादी पांच वर्ष पूर्व बदौसा के पौहार रोड स्थित बंगाली पुरवा में भैरव दीन से ब्याही थी।सोमवार की सुबह उसकी निवस्त्र लाश बंगाली पुरवा में घर से थोड़ी दूर स्थित प्राथमिक विद्यालय के पीछे पड़ी पाई गई थी।उसके आंख,छाती में गोली मारने के निशान सहित धारदार हथियार के निशान थे।मामले को बदौसा पुलिस ने मृतका की माँ की तहरीर दर्ज किया था।जिस पर बदौसा पुलिस ने दहेज हत्या का मुकदमा भी दर्ज कर लिया था।लेकिन अंतिम संस्कार के समय मृतका की माँ ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को भेज मौके में मौजूद उच्चाधिकारियो को दे दर्ज रिपोर्ट को गलत बता बलात्कार के बाद हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही थी।स्थानीय पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए फरार पति की तलाश शुरू कर दी थी। गुरुवार को पुलिस ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए पति,सास व दो अन्य को दहेज हत्या में ही दोषी मानते हुए गिरफ्तार किया गया।जिसमें पुलिस द्वारा सास को पहले ही जेल भेज दिया गया था।इसके बाद गुरुवार को पति भैरव व रमेश पुत्र रामकिशुन को दहेज हत्या का दोषी मानते हुए जेल भेज दिया गया।इसके अलावा एक अभी भी फरार चल रहा है।इस बात को लेकर मृतका के भाई ने कहा कि पहले तो पुलिस गोली मारने की बात भी नही स्वीकार कर रही थी । लेकिन उसके बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस गोली की बात स्वीकार किया।वही पडोसियो में भी तरह तरह की शंकाये व्यक्त की जा रही है।इसके अलावा मृतका के जीजा चिरौंजी लाल ने बताया कि वह अभी पुलिस जांच से संतुष्ट नही है।


खाली मिले कारतूस के पांच खोखे

अतर्रा(बाँदा)।पुलिस द्वारा जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति में कारतूस के खाली पांच खोखे मिलने की बात बताई गई है।जबकि मृतका के शरीर मे तीन गोलियों के निशान मिलने की बात सामने आई है।बाकी की दो गोलियां कहा गयी।ये भी अभी स्पष्ट नही बताया गया।कुल मिला कर यह कहा जा सकता है कि बदौसा पुलिस मामले में लीपा पोती करने में लगी हुई हैं।


बसपा नेता ने परिवार को दी सांत्वना

अतर्रा(बाँदा)।बसपा के नेता गया चरण दिनकर ने कार्यकर्त्ताओ के साथ गुरुवार को मृतका के मायके अतर्रा पहुंच कर परिवार को सांत्वना दी।उन्होंने मामले की पूरी जानकारी मृतका के परिवार से प्राप्त करते हुए न्याय दिलाने का भरोसा भी दिया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages