हाइवे किनारे गोदाम चौकीदार की गला घोंटकर हत्या - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, October 14, 2020

हाइवे किनारे गोदाम चौकीदार की गला घोंटकर हत्या

पुलिस का दावा: चौकीदार ने चोरों को लिया था पहचान 

बांदा, के एस दुबे । मंगलवार की रात को चोरों ने आढ़त गोदाम में मौजूद चैकीदार की गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद चोरों ने दीवार और अलमारी तोड़ने का प्रयास किया लेकिन नाकाम रहे और गोदाम से भाग निकले। खबर पाकर पुलिस अधीक्ष्क मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। पुलिस का कहना है कि पहचान लिए जाने के बाद चोरों ने चैकीदार की हत्या कर दी। 

आढ़त गोदाम के पीछे जांच-पड़ताल करती पुलिस

हाइवे से जुड़ी नई सड़क पर अभय सोनी की गल्ला की आढ़त है। रात में आढ़त की रखवाली करने के लिए अतर्रा थाने के खम्हौरा गांव निवासी काशीप्रसाद कुशवाहा (65) को चैकीदारी करने के लिए लगाया गया था। मंगलवार की शाम को आढ़त में काम करने वाले छह पल्लेदार भी रात करीब नौ बजे घर चले गए। रखवाली के लिए चैकीदार काशी प्रसाद ही मौजूद थे। रोज की तरह अंदर से ताला बंद कर वह सो गए। सुबह अनिल आढ़त खोलने पहुंचे और
आढ़त के अंदर पूछतांछ करती पुलिस

आवाज दी। अंदर से काफी देर तक जब कोई आवाज नहीं आई तो किसी अनहोनी का शक हुआ। इस पर पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर टीम के साथ थानेदार अखिलेश मिश्रा पहुंच गए और अंदर से बंद होने के चलते छत के रास्ते पुलिस गोदाम में घुसी। इसके बाद मुख्य गेट खोला। पुलिस ने देखा कि तखत पर चैकीदार काशीप्रसाद का शव पड़ा था। गले पर रस्सी से गला घोंटने के निशान मिले। सूचना मिलते ही काशीप्रसाद के परिजन रोते-बिलखते पहुंच गए। पुलिस ने गोदाम के अंदर जांच-पड़ताल की तो पता चला कि चोरों ने अंदर से दीवार और अलमारी को
रोती-बिलखती महिलाएं

तोड़ने का भी प्रयास किया था। हालांकि अलमारी नहीं तोड़ पाने से उसमें रखी नकदी बच गई। एसपी सिद्धार्थ शंकर मीना, एएसपी महेंद्र सिंह व सीओ सत्यप्रकाश शर्मा ने मौके पर पहुंच जांच की। आढ़त मालिक अनिल से पूछताछ की गई। अनिल ने संदेह जताया कि चोरों को चैकीदार ने पहचान लिया होगा, इसीलिए उसकी हत्या कर दी गई। नकदी और सामान सुरक्षित है। सीओ ने बताया कि फारेंसिक टीम से साक्ष्य एकत्र कराए गए हैं। रस्सी से गला घोंटकर हत्या की गई है। हर बिंदु पर जांच चल रही है। जल्द ही हत्या का खुलासा किया जाएगा। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages