प्रदेश में अपराध बढ़ने पर सड़कों पर उतरी समाजवादी पार्टी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, October 19, 2020

प्रदेश में अपराध बढ़ने पर सड़कों पर उतरी समाजवादी पार्टी

आठ सूत्रीय मांगों को लेकर राज्यपाल कोे भेजा ज्ञापन 

फतेेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश में अपराध दिनों दिन बढ़ने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव एवं प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के निर्देशन में समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आये हैं। सोमवार को पार्टी कार्यालय से नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर राज्यपाल को सम्बोधित आठ सूत्रीय ज्ञापन उप जिलाधिकारी को सौंपकर अपराधियों पर लगाम लगाते हुए प्रदेश में कानून का राज स्थापित कराये जाने की मांग उठायी। 


कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता।

समाजवादी पार्टी कार्यालय मंे प्रातः बड़ी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता एकत्र हुए। जहां जिलाध्यक्ष विपिन सिंह यादव के नेतृत्व में नारेबाजी करते हुए सपाई कलेक्ट्रेट पहुंचे और राज्यपाल को सम्बोधित आठ सूत्रीय ज्ञापन उप जिलाधिकारी को सौंपकर कहा गया कि प्रदेश में बेलगाम अपराध और बेखौैफ अपराधी सत्ता संरक्षण में पल रहे हैं। जनता अपने को असुरक्षित महसूस कर रही है। चारों तरफ भय व आतंक का माहौल है। भाजपा राज में सर्वाधिक महिलाएं व बच्चियां असुरक्षित हैं। ध्वस्त कानून व्यवस्था का आलम यह है कि बलिया में पन्द्रह अक्टूबर को दिन दहाड़े राशन दुकान के आवंटन की पंचायत में हुए विवाद के दौरान भाजपा नेता ने एक युवक को गोली मार दी। घटना के दौरान एसडीएम व सीओ भी मौजूद रहे। पुलिस की पकड़ में आने के बाद भी आरोपी को भाग जाने दिया गया। हाथरस काण्ड भी किसी से छिपा नहीं है। यहां भी प्रशासन व पुलिस का चरित्र उजागर हुआ है। भाजपा सरकार के कार्यव्यवहार से प्रदेश में हर तरफ आक्रोश है। राज्यपाल से मांग की गयी कि धान केन्द्र में कांटे अविलम्ब खोलकर सुचारू रूप से किसानों का धान खरीदा जाये। जनपद की बदहाल बिजली व्यवस्था को तत्काल सही कराया जाये, नऊवाबाग से राधानगर ध्वस्त रोड को तत्काल सही कराया जाये, समाजवादी पार्टी के नेता असलम फरसी व उनके परिवार को सत्ता संरक्षण में पुलिस उत्पीड़न तत्काल बंद कराया जाये, थानों में सत्ता संरक्षण दलालों की आवाजाही बंद कराई जाये एवं पीड़ितों की तत्काल सुनवाई की जाये, विपक्षी प्रधानों को जांच के नाम पर शोषण बंद किया जाये, करसवां काण्ड में पुष्पा कुशवाहा परिवार को न्याय दिलाने के लिए निष्पक्ष जांच हो और पीड़ित परिवार को पच्चीस लाख का मुआवजा दिया जाये, जनपद मंे हो रही हत्याएं, बलात्कार, डकैतियों पर तत्काल रोक लगाई जाये। इस मौके पर महासचिव डीजी कुशवाहा, चन्द्र प्रकाश लोधी, जेपी यादव, चैधरी मंजर यार, नफीस उद्दीन, ठा0 सतीश राज सिंह, मो0 आजम, संगीता राज पासी, अरूणेश पाण्डेय, रीता प्रजापति, तरन्नुम परवीन, जगदीश उर्फ जालिम सिंह, रत्नेश, उदय प्रताप सिंह, बृजेन्द्र यादव, कलीम शेख, असलम फरसी, मतीन अहमद, पप्पू अहमद, विनोद पासवान, डा0 अनिल कुमार यादव, कपिल यादव, शाहनवाज आलम, जिया उद्दीन राजू, रहीम राईन कादरी, दलजीत निषाद, तनवीर हैदर, जंग बहादुर सिंह मखलू, शोएब खान, राजेन्द्र निषाद, धीरेन्द्र यादव सहित बड़ी संख्या में सपाई मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages