नवनिर्मित घाट की स्ट्रीट लाइटें ध्वस्त: अजीत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, October 4, 2020

नवनिर्मित घाट की स्ट्रीट लाइटें ध्वस्त: अजीत

ठंडे बस्ते में बोरी प्रकरण की जांच

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। रामघाट विस्तारीकरण के तहत घाट में लगाई गई स्ट्रीट लाइटें ध्वस्त पड़ी हैं। जब कोई मेला या पर्व आता है तो जुगाड़ से इन्हें चालू कर दिया जाता है। मामले की शिकायत बुन्देली सेना ने सीएम पोर्टल पर की तो सिंचाई विभाग ने जवाब दिया कि सारी लाइटें चालू करा दी गई हैं। जबकि लाइटें अभी भी बंद है।

बुन्देली सेना के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह ने बताया कि रामघाट विस्तारीकरण में जमकर धांधली हुई थी। तत्कालीन अधिकारी मोटा कमीशन लेकर चलते बने और ठेकेदारों ने चलताऊ काम किए। लाखों बोरियां नदी में छोड़ दी गई थी। बोरियां निकलने के बाद जांच कमेटी बनाई गई। जांच कमेटी बनने पर लगा कि शायद कुछ भ्रष्ट लपेटे में आएं, लेकिन जांच ठंडे बस्ते में डाल दी गई। रामघाट विस्तारीकरण के तहत नयागांव रपटे से लेकर बूड़े 

घाट पर लगी स्ट्रीट लाइटे।

हनुमान मंदिर तक घाट में स्ट्रीट लाइटें लगाई गई थीं, लंबे समय से सभी स्ट्रीट लाइटें ध्वस्त पड़ी हैं। जब सीएम पोर्टल में मामले की शिकायत की गई तो विभाग ने 28 सितंबर को जवाब दिया कि सभी स्ट्रीट लाइटें चालू करा दी गई हैं। जबकि रविवार तक स्ट्रीट लाइटें ज्यों की त्यों बंद ही रहीं। मुक्तिधाम के पास नवनिर्मित घाट में नाले की गंदगी घाट को गंदा कर रही है, लेकिन जिम्मेदार इस बात से भी बेपरवाह हैं। इसी तरह डूडा विभाग द्वारा वर्ष 2014-15 में बूड़े हनुमान जी मंदिर में लगाई गई हाई मास्क लाइट भी शोपीस बनी हैं। विभाग ने सीएम पोर्टल पर की गई शिकायत के जवाब में दावा किया गया था कि सितम्बर महीने के अंत तक हाई मास्क को ठीक करा दिया जाएगा, लेकिन कोई झांकने नही गया स बुन्देली सेना ने ऐसे अधिकारियों की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाए हैं। साथ ही रामघाट विस्तारीकरण की जांच रिपोर्ट सार्वजनिक न किए जाने पर जांचकर्ता अधिकारियों की शिकायत मुख्यमंत्री से करने की बात कही है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages