निषाद समाज के लोगों ने राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने की लगाई गुहार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, October 27, 2020

निषाद समाज के लोगों ने राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने की लगाई गुहार

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय लोधी निषाद बिंद कश्यप एकता समता महासभा के बैनर तले नेशनल एसोसिएशन ऑफ फिशरमैन के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश नाथ निषाद की अगुवाई में समाज के लोगों ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुँचकर जिलाधिकारी संजीव सिंह से मिलकर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन प्रेषित किया और चार सूत्रीय मांगों के सम्बंध में भारत सरकार को निर्देशित किये जाने की मांग किया। 

डीएम को ज्ञापन देने जातेे निषाद समाज के लोग।

राष्ट्रपति को सम्बोधित मांगो में अनुसूचित जाति मझवार के साथ उसके समतुल्य नाम मांझी, मल्लाह, केवट एवं मझवार, अनुसूचित जाति तुरैहा के साथ उसके समतुल्य उपजाति धीमर, अनुसूचित जाति पासी, तरमाली के साथ उसके समतुल्य जाती भर, अनुसूचित जाति जनजाति गोंड के जनजातीय समूह की जनजातियां राजगोंड, कहार, गोडिया, बाथम, सोरहिया रैकवार रखने की अधिसूचना एवं भारत का राजपत्र जारी करने के लिए संसदीय कार्यवाही पूर्ण करने की मांग किया। उन्होंने राष्ट्रपति से निदेशक अनुसूचित जाति जनजाति शोध एव प्रशिक्षण संस्थान द्वारा अधिसूचना एवं भारत का राजपत्र जारी न करने के लिये संसदीय कार्रवाई न पूरा करने सामाजिक आर्थिक शैक्षिक सर्वेक्षण अध्ययन कराकर आख्या रिपोर्ट उप्र सरकार केंद्र सरकार को भेजने हेतु निर्देशित किये जाने की गुहार लगाई। इस मौके पर तेजनारायण निषाद, रामखेलावन निषाद, गया प्रसाद निषाद, महेंद्र कुमार निषाद, सुरेश निषाद, मनोहर निषाद आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages