शासन की गाइड लाइन का अध्ययन कर सुचारू रूप से जारी रखें शिक्षण कार्य-सचिव - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, October 19, 2020

शासन की गाइड लाइन का अध्ययन कर सुचारू रूप से जारी रखें शिक्षण कार्य-सचिव

विद्यालयों का निरीक्षण कर देखी व्यवस्थाएं

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। कोरोना संक्रमण काल के कारण सात महीने बाद इंटर कॉलेजों में पुनः रौनक लौटी है।शासन के निर्देश पर कोरोना की रोकथाम के लिए लागू किये गए सभी उपायों को अपनाकर पचास फीसदी छात्रों को अभिभावकों की सहमति से कालेज बुलाकर पढ़ाई कराए जाने का निर्णय लिया गया है।शासन के निर्देश पर सोमवार को जिले की शिक्षण संस्थाओं में लंबे समय बाद विद्यार्थियों के आने पर सात माह का सन्नाटा गायब होकर रौनक लौटी देखी गयी है। जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम ने बताया कि शासन की गाइडलाइन को अक्षरशः पूरे जनपद के सभी विद्यालयों में लागू कराने का सफल प्रयास किया गया है। शासन द्वारा नामित माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज के सचिव दिव्य कांत शुक्ला ने पहले दिन जिले के कई विद्यालयों का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।उन्होंने प्रधानाचार्यों से कहा कि  गाइडलाइन का विधवत अध्ययन कर जो सावधानियां हैं उनका पालन करते हुए शिक्षण कार्य व्यवस्था सुचारू रूप से जारी रखे। उन्होंने कहा कि बच्चों व अभिभावको से बात होने पर पता चला कि बच्चे विद्यालय आने के लिए उत्सुक है, पढ़ाई  के लिए अच्छा खासा उत्साह है,बस ध्यान


रखना है कि विद्यालयों में चाक चौकस व्यावस्था रखी जाए,ताकि करोना संक्रमण, से, बच्चे व शिक्षक प्रभावित न हो इस पर सभी प्रधानाचार्य को विशेष ध्यान देने, की जरूरत है।सचिव ने सीआईसी का निरीक्षण कर व्यवस्थाएँ देखकर संतोष जताया। कहा कि इसी तरह पूरे जिले के इंटर कॉलेजों में व्यवस्थाएँ होनी चाहिए।

सभी प्रधानाचार्य प्रवेश द्वार में थर्मल स्क्रीनिंग मशीन हाध धुलने की व्यवस्था,सैनेटाइजर की व्यवस्था की जाय।सभी बच्चे मास्क लगाकर पहुंचे।विद्यालयों व कक्षाओं की साफ सफाई विधिवत कराई गयी और सेनेटाइज  किया गया।छात्र छात्राओं को निर्धारित मानक की दूरी पर बैठाया गया।सोमवार को शिक्षण संस्थाओं में छात्र छात्राओं के आने से रौनक देखते ही बनी है सूने विद्यालयों में फिर से बहार सी आ गई है,वैसे बच्चो की पढ़ाई बहुत पीछे है ।कोरोना काल में अधिकारियों व शिक्षको ने नियमित पढ़ाई जारी रखा।इसके बावजूद संतोषजनक  पढ़ाई नहीं हो पाई,अब विद्यालय खुले हैं शिक्षक पूर्ण मनोयोग से बच्चों को पढ़ाने के लिए संकल्पित हैं ।पहले दिन सभी शिक्षक  पढ़ाई का काम सम्पादित किया अब रोजाना  पचास फीसदी बच्चों को ही विद्यालय में बुलाने का प्रावधान किया गया है।विद्यालय दो पालियों में संचालित किए जा रहे हैं । पहली मीटिंग हाईस्कूल और दूसरी पाली में इण्टरमीडिएट की कक्षाएं चलाई जा रही हैं जो बच्चे पहले दिन आयेंगे उन्हें अगले दिन रोक कर दूसरे बच्चों को बुलाया जायेगा।सभी बच्चों को पढ़ाई का समान अवसर दिया जायेगा। जिला विद्यालय निरीक्षक बलिराज राम ने बताया कि बोर्ड परीक्षार्थियों की पढ़ाई पर विशेष फोकस करने के निर्देश दिए हैं, ताकि बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट बेहतर आ सके।कोरोना से बचाव के लिए पूरी सावधानी बरतने की सख्त हिदायत दी गयी है।चित्रकूट इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डाॅक्टर रणवीर सिंह चौहान ने बताया कि शासन  के निर्देशानुसार सभी आवश्यक उपाय अपनाकर विद्यालय सोमवार से संचालित किया गया  है।बच्चों को सभी शिक्षकों ने पढ़ाया। पहले दिन बहुत अच्छा लगा।सभी  शिक्षक और छात्रों में पढ़ाई के प्रति ललक देखी गयी और खुशी का माहौल  रहा। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages