बरखेरा गांव में गहराया बूंद-बूंद का संकट, जिम्मेदार मौन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Saturday, October 10, 2020

बरखेरा गांव में गहराया बूंद-बूंद का संकट, जिम्मेदार मौन

ग्रामीणों ने खाली बर्तन लेकर किय प्रदर्शन

वर्ष 2014-15 में लाखों से निर्मित टंकी बनी शोपीस

कदौरा (जालौन), अजय मिश्रा । पेयजल संकट पर शासन लगातार जिम्मेदारों को बैठक कर दिशा निर्देश जारी करता है लेकिन जिम्मेदारों की उदासीनता की वजह से ग्रामीण इलाकों में पेयजल संकट खड़ा हो गया है कही हैडपम्प खराब है तो कही ग्रामीण गड्डों से पानी निकाल कर पीने के लिए मजबूर हैं और दूर दूर से पानी लाने के लिए परेशान हो रहे हैं।

खाली बर्तनों के साथ प्रदर्शन करते ग्रामीण।

ब्लाक क्षेत्र के ग्राम बरखेरा में रविवार को पेयजल संकट को लेकर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने जिम्मेदारों के खिलाफ खाली बर्तन लेकर सड़क पर प्रदर्शन किया ग्रामीण अनवरी, साबरा खातून, पीर अली, गफूर अली, आजाद, शेफुल्ला अफसाना, सकीला ने जिम्मेदारों पर अनदेखी का आरोप लगा कर बताया कि गांव में एक करोड़ की लागत से जल निगम द्वारा 2014-15 में पानी की टंकी का निर्माण कराया गया ताकि पेयजल संकट को खत्म किया जाए और पूरे गांव में पाइप लाइन भी डाली गई लेकिन इसके बाद भी गांव की आधी आबादी अभी भी पानी के लिए परेशान है हम लोग 5 से 7 फिट गहरे गड्डो में लाइन लगाकर पानी निकाल कर पीने के किए मजबूर है।इसकी शिकायत कई बार डीएम एसडीएम क्षेत्रीय विधायक जल निगम के अधिकारियों से कर चुके हैं लेकिन सुनवाई के नाम पर अब तक सिर्फ आश्वासन मिला है। 

आबादी 7 सौ हैंडपम्प एक है वह भी खराब पड़ा 

कदौरा। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि गांव में मतदाताओं की संख्या 14 सौ है और आबादी तीन हजार है 7 सौ की आबादी में सिर्फ एक हैडपम्प है जो विगत 6 माह से खराब पड़ा हुआ है प्रधान व सचिव बजट न होने का बहाना बनाते हैं विगत माह पूर्व  डीडीओ मिथलेश सचान ने गांव का निरीक्षण किया था जिस पर पेयजल की शिकायत की थी लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुई अगर जल्द पानी संकट दूर नही हुआ तो हम लोग जिलाधिकारी कार्यालय में धरना प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होंगे।

ग्रामीणों की समस्या पर क्या बोले जिम्मेदार

बरखेरा गांव की ग्राम प्रधान सुशीला ने बताया की हैंडपम्प सही करवाने के लिए पत्र लिखा गया है सही भी कराया लेकिन जल स्तर नीचे होने की वजह से कामयाब नहीं हो पाया।

 जल निगम के अवर अभियंता अजय कुमार से बात हुई तो उन्होंने बताया कि पूरे गांव में पाइप लाइन बिछाई गई है टँकी के आसपास रहने वाले ग्रामीणों ने लाइन को क्षतिग्रस्त कर रखा है जिस कारण वहां तक पानी नही पहुच पाता है जिसके लिए शासन को पत्र लिखा गया है।

बीडीओ अतिरंजन सिंह ने बताया कि पूर्व में दो बार जल निगम को पत्र लिखा गया है जल्द जिलाधिकारी से मिलकर समस्या से अवगत कराएंगे। ताकि ग्रामीणों को पानी के लिये इस तरह की मुसीबतों का सामना न करना पड़े।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages