जयन्ती--गांधी व शास्त्री को किया याद - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, October 2, 2020

जयन्ती--गांधी व शास्त्री को किया याद

देश के अद्वितीय प्रधान मंत्री थे शास्त्री 

हमीरपुर, महेश अवस्थी  । सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कालेज हमीरपुर मे गॉधी व शास्त्री की जयंती पर  प्रधानाचार्य रमेशचन्द्र ने कहा कि आत्म संयम व दृढ़ता का ही एक नाम मोहनदास करमचन्द्र गॉधी है। उनका जीवन हमारे लिए एक संदेश है। आज का दिन राष्ट्रीय पर्व एवं अन्तर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रुप मे व स्वच्छता दिवस के रुप मे भी हम मनाते है। देश को स्वतंत्र कराने मे इनका अहम योगदान है। जितना योगदान देश को स्वतंत्र कराने मे गॉधी जी का है ,उतना ही देश के विकास मे योगदान लाल बहादुर शास्त्री का भी है। 


कार्यक्रम की शुरुआत दोनो भवनो मे प्रधानाचार्य द्वारा ध्वजारोहण के साथ हुआ। मॉ सरस्वती की वन्दना व गॉधी तथा शास्त्री के चित्र पर पुष्पार्चन के साथ हुआ। संगीताचार्य ज्ञानेश जडि़या द्वारा रामधुन संकीर्तन प्रस्तुत की गयी। विद्यालय के आचार्य जितेन्द्र सिंह व रमेश शुक्ला ने कहा कि एक राष्ट्र की संस्कृति और उसमे रहने वाले लोगो के दिलो मे और आत्मा मे रहती है। जीवन की विषम परिस्थिति मे गॉधी जी कभी विचलित नही हुये। शास्त्री जी अपने व्यकित्त्व व कृतित्व के कारण भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री बने। वस्तुतः गॉधी जी एक संस्था थे , वे उदारवादी, मार्क्सवादी व्यक्तियो मे महान और महान व्यक्तियो मे महान व्यक्तित्व थे। स्वदेशी खादी, कुटीर उद्योग गॉधी जी के रचनात्मक कार्य थे। शास्त्री जी पालिका सदस्य से लेकर प्रधानमंत्री पद तक पहुॅचे थे इनमे विलक्षण प्रतिभा थी। और सन 1964 मे ताशकन्द समझौते के समय उनकी दुःखद मृत्यु हो गयी। विद्यालय के प्रधानाचार्य रमेशचन्द्र सहित सभी स्टाफ ने झाड़ू लगाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता आन्दोलन को गति प्रदान की। आभार प्रदर्शन कार्यक्रम प्रमुख ऋषिराज निगम ने किया। कार्यक्रम का संचालन आचार्य बलराम सिंह ने किया। यह जानकारी विद्यालय के मीडिया प्रभारी आचार्य वेदप्रकाश शुक्ल ने दी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages