कब गड्ढा मुक्त होंगे गांव के सम्पर्क मार्ग - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, October 27, 2020

कब गड्ढा मुक्त होंगे गांव के सम्पर्क मार्ग

हमीरपुर, महेश अवस्थी  । गड्ढ़ा मुक्त सड़के किये जाने का सरकार भले ही ढ़िढोरा पीट रही हो ,लेकिन विकास खण्ड सुमेरपुर के दर्जनों सम्पर्क मार्ग आज भी गड्ढ़ों में तब्दील है । इनकी बदहाली से ग्रामीण जनता को आवागमन में  दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रदेश सरकार की मंशा है कि सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त किया जाये, इसके लिए कई बार फरमान भी जारी हो चुके है । लेकिन विकास खण्ड सुमेरपुर में सम्पर्क मार्गो की दुर्दशा भी आँसू बहा रही है।सड़के तो गड्ढ़ा मुक्त नही हुई, बल्कि कुछ वर्षों के अंतराल में बनी सड़के जरूर गड्ढ़ा में बदल गयी है।कई सम्पर्क मार्ग ऐसे ही जिनमे ओवरलोड बालू भरे ट्रको ने सड़को का नामोनिशान मिटाकर रख दिया है। सुमेरपुर से देवगांव पतयोरा मार्ग की जर्जर दशा को देखने से पता चलता है कि इस मार्ग से पतयोरा


खदान से गुजरने वाले ओवरलोड बालू भरे ट्रको ने इसको गड्ढ़ों में तब्दील कर दिया है। जबकि इस सड़क का निर्माण करीब  दो वर्ष पूर्व हुआ था और बताया जा रहा है कि इसको सही सलामत रखने की गारंटी पांच वर्ष की थी। लेकिन आज सड़क की बदत्तर हालत ने लोगो का जीना हराम कर दिया है ।हालात यह है कि सुमेरपुर से देवगांव तक समूची सड़क गायब है ।यहाँ से आवागमन करने वालो को जान जोखिम में डालकर यात्रा करनी पड़ रही है।सरकार का गड्ढ़ा मुक्त करने का दावा हवा हवाई बनकर रह गया है।सुमेरपुर से बांकी मार्ग की भी यही दसा है ।हालांकि पता चला है कि इस मार्ग को गड्ढ़ा मुक्त किये जाने का काम शुरू करवाया जा चुका है । लेकिन अभी मार्ग के गड्ढ़ों में केवल गिट्टी की पुराई ही हो सकी है।बांकी से ललपुरा मार्ग भी पूरी तरह उखड़कर गड्ढ़ों में तब्दील हो गया है।यहाँ से गुजरने वाले वाहन बमुश्किल अपनी यात्रा तय कर पाते है।बांकी से नदेहरा मार्ग भी अपने भाग्य पर आंसू बहा रहा है ।

ग्रामीणों ने इन सड़कों की मरम्मत की मांग की है । बांकी से पलरा होते हुए विदोखर तक जाने वाला सम्पर्क मार्ग की हालत तो बद से बदत्तर हो गयी है ,पलरा से विदोखर तक तो सड़क का नामोनिशान ही मिट गया है। दर्जनों बार ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधियों के यहाँ तक आवाज उठाई । लेकिन कई वर्ष बीत चुके है ,आज भी सड़क की दुर्दशा से लोगो को निजात नही मिल सकी है। इंगोहटा से छानी मार्ग सडक का निर्माण हुए अभी ज्यादा समय ब्यतीत नही हुआ लेकिन कम समय मे ही सड़क का दिवाला बिगड़ गया और भारी भरकम गड्ढ़ों में सड़क तब्दील हो गयी । घटिया निर्माण ने सड़क की पोल खोलकर रख दी ।आज हालात यह है कि लोगो को अपने वाहन जान जोखिम में डालकर निकालना पड़ रहा है।इसी तरह इटरा गेट से चन्दपुरवा होते हुए पचखुरा खुर्द तक,देवगांव से पतयोरा तक,देवगांव से जलाला,गहतौली होते हुए सुरौली बुजुर्ग तक,सुरौली से बरूआ, भौरा तक,टेढ़ा से पचखुरा बुजुर्ग होते हुए सुरौली बुजुर्ग तक,पारा से मौहर होते हुए कैथी तक,सिमनोडी से कारी माटी होते हुए कुछेछा तक,कैथी से गड़रिया सहित अन्य कई सम्पर्क मार्ग है। जो बालू भरे ओवरलोड ट्रको के निकलने से ध्वस्त हो चुके है। जबकि बताया गया कि सम्पर्क मार्गो में भारी वाहन ओवरलोड ट्रक प्रतिबंधित है ।लेकिन इसके बावजूद बिना रोक टोक आसानी से निकल रहे है। इनको कोई रोकने वाला नही है।ग्रामीणों का कहना है कि सम्पर्क मार्गो की हालत बद से बदत्तर हो गयी है गड्ढ़ों का अम्बार लगा है।सरकार ऐलान करती है कि सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त किया जाए ,लेकिन लगता है कि सरकार की यह कोरी घोषणा ही है।आज भी विकास खण्ड क्षेत्र के कई सम्पर्क मार्ग गड्ढ़ों में तब्दील है।आवागमन की समस्या से लोग जूझ रहे है सम्पर्क मार्ग कब गड्ढ़ा मुक्त होंगे ।इसकी राह देख रहे है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages