अस्पताल में महिला मरीजों व तीमारदारों को बताए अधिकार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, October 23, 2020

अस्पताल में महिला मरीजों व तीमारदारों को बताए अधिकार

महिला हिंसा होने पर हेल्पलाइन नंबर 181 में दें सूचना 

बच्चों व बुजुर्गों को तीमारदार के रूप में न लाने की सलाह

मिशन शक्ति के तहत महिला जिला अस्पताल में आयोजन 

बांदा, के एस दुबे । शासन के महत्वपूर्ण अभियान ‘मिशन शक्ति’ के तहत जागरूकता कार्यक्रमों का सिलसिला जारी  है। बृहस्पतिवार को जिला महिला अस्पताल में भर्ती मरीजों व तीमारदारों को उनके अधिकार के प्रति जागरूक किया। उन्हें नारी सशक्तीकरण, सम्मान व अधिकारों के बारे में विस्तार से बताया। साथ ही कोरोना संक्रमण से बचने के उपाए बताए। 


महिला अस्पताल में मौजूद महिला हेल्पलाइन के पदाधिकारीगण

मिशन शक्ति अभियान के छठवें दिन शारदीय नवरात्र में महिला अस्पताल में मरीजों व तीमारदारों को मिशन शक्ति के लिए जागरूक किया। जिला महिला हेल्प लाइन मैनेजर रमा साहू ने मरीजों को शासन द्वारा दी जा रही सेवाओं और उनके अधिकारों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पुरुषों की भांति महिलाएं भी समाज में सम्मान का अधिकार रखती है। भारत एक ऐसा देश है जहां पर नारी की पूजा होती है। कहीं भी अपने आसपास किसी महिला के साथ दुव्र्यवहार होता दिखे तो तुरंत हेल्पलाइन नंबर 181 में काल करके इसकी जानकारी दें। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए जननी सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना, प्रधानमंत्री मातृत्व सुरक्षित अभियान इत्यादि योजनाएं संचालित हैं।

डा. संजीव ने मरीजों को कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए साफ-सफाई अपनाने के साथ ही सर्दी खांसी-जुकाम, सिर दर्द व बुखार वाले मरीजों से दूरी बनाए रखने, बार-बार साबुन से हाथ धोने के प्रति जागरूक किया। 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों और 60 वर्ष से अधिक उम्र की महिला व पुरुषों को तीमारदार के रूप में अस्पताल न लाने की सलाह दी। क्वालिटी मैनेजर डा. प्रमोद सिंह ने कहा कि इस आपात स्थिति से निपटने के लिए ही अस्पताल सभी वार्डों, कक्षों, कार्यालयों, उनके दरवाजों, हैंडल, रेलिंग, पानी के नल एवं प्रत्येक उस स्थान, उपकरण एवं सामग्री को सेनेटाईज किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एक मरीज के साथ केवल एक तीमारदार ही अस्पताल में रुकें। जिससे अनावश्यक भींड़ न लगने पाए। इस मौके पर अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी सुधीर कुमार मिश्र, अंकिता, दिनेश साहू, सुनीता, वंदना, ममता इत्यादि उपस्थित रहीं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages