बाँदा जिले के 393 मजरे विद्युतीकरण से छूटे सांसद नाराज - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, October 28, 2020

बाँदा जिले के 393 मजरे विद्युतीकरण से छूटे सांसद नाराज

करतल में शीघ्र बनेगा विद्युत पवार स्टेशन-रामकृपाल

 बाँदा, के0 एस0 दुबे- बांदा चित्रकूट सांसद आर0के0 सिंह पटेल एवं जिलाधिकारी बांदा आनंद कुमार सिंह की अध्यक्षता में विद्युत समाधान बावत बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न हुई जिसमें  सांसद  श्री पटेल द्वारा करतल तथा कालिंजर की विद्युत सप्लाई 30 किलोमीटर के अंतराल में होने से लो वोल्टेज हो जाता है जिसके कारण विद्युत की समस्या बनी रहती है इसीलिए करतल में पावर हाउस का प्रपोजल जिलाधिकारी की तरफ से शासन को भेजने के लिए निर्देश इसके साथ रगौली भटपुरा गांव में खलिहान की जमीन पर  पावर हाउस हेतु आवंटित है फतेहगंज का पावर हाउस 30नवम्बर तक बनाए जाने के निर्देश तथा 2 किलोमीटर की लाइन का भी निर्माण कराया जाना अवशेष है। जिसे तत्काल पूरा किए जाने हेतु  दिए निर्देश। सांसद जी द्वारा यह निर्देश दिए गए कि जनपद में जर्जर तारों वाले खंभों को एवं  पुरानी लाइनों को नया कराया जाये।  सांसद जी द्वारा अवगत कराया गया कि टाटा कंपनी के द्वारा ग्राम पंचायतों में मीटर लगा दिए गए हैं और बिजली अभी तक नहीं पहुंची है हमारी

सरकार का एक ही उद्देश्य गरीबों को मुफ्त कनेक्शन देना लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है यह बहुत ही चिंता का विषय है उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना के अंतर्गत जो 393 मजरे छूटे हैं ऐसे मजरों  की सूची शीघ्र उपलब्ध कराई जाए और उन मजरों का चयन कर विद्युतीकरण कराया जाए जिससे हर घर घर तक उर्जीकरण हो सके।
     बैठक में विधायक सदर प्रकाश द्विवेदी जी द्वारा बताया गया कि बिलगांव ग्राम में  पावर हाउस का स्थान निश्चित कर दिया गया है। जिससे विद्युत की समस्या कम होगी और लोगों को  विद्युत कनेक्शन प्राप्त हो सकेगा।
 सदर विधायक श्री द्विवेदी ने बताया  सर्वाधिक समस्या है कि खुरहंड फीडर से विद्युत आपूर्ति आ रही है लेकिन  संविदा के लाइन स्टाफ  सही कार्य नहीं कर रहे हैं। और  नदी के किनारे  10 से 12 ग्राम की विद्युत आपूर्ति सही कराना है ।  विधायक जी द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि बीच खेतों में लाइन का निर्माण कराया गया है जो नीचे लटक कर गिर गए हैं और विद्युत आपूर्ति बाधित होती है इसीलिए खंभों गाउंटिंग कराया जाना अनिवार्य है। इसके साथ बांदा नगर के सभी फीडर अलग किया जाना है। पेयजल की लाइन तुलसी नगर, डीएम कॉलोनी  गली नंबर 1 में परिवर्तन कराया जाना है।उन्होंने यह भी शिकायत की कि विद्युत विभाग के जेई के द्वारा फोन नहीं उठाए जाते। उन्होंने कहा कि जहां बांस बल्ली लगे हैं उन स्थानों पर पोल गाड़ के विद्युतीकरण कराकर उपभोक्ताओं को सप्लाई दिया जाना सुनिश्चित किया जाए।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages