गाय का दूध पीकर कुपोषण को हराएंगे नौनिहाल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Thursday, September 24, 2020

गाय का दूध पीकर कुपोषण को हराएंगे नौनिहाल

जिलाधिकारी ने कुरारा ब्लाक के बदनपुर किया में गऊदान 

सातों ब्लाकों में  97 कुपोषित बच्चों को मिलेगी गाय

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कुपोषण को जड़ से समाप्त करने को लेकर शुरू हुए अभियान  में कुरारा ब्लाक के बदनपुर गांव के कुपोषित बच्चों को दुधारू गायों का तोहफा मिला। जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की मौजूदगी में कुपोषित बच्चों के परिजनों को एक-एक गाय सौंपी गई। आश्वस्त किया गया कि प्रतिमाह लाभार्थी के खाते में गायों के भरण-पोषण को लेकर नौ सौ रुपए की धनराशि भेजी जाएगी।

बदनपुर गांव में गऊदान करते जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी।

बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा बदनपुर के प्राइमरी स्कूल में आयोजित गऊदान कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि गाय का महत्व वैदिक काल से रहा है। गाय का दूध, गोबर, मूत्र सबमें औषधि तत्व पाए जाते है। धार्मिक रूप से भी गाय अत्यंत महत्वपूर्ण पशु है, जिसमें देवी-देवताओं का वास होता है। इसीलिए गाय को मां का दर्जा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों को स्वस्थ बनाने में गाय का दूध रामबाण का काम करेगा। लाभार्थी गायों का सही से ख्याल रखें। समय से चारा-पानी दें तो घर में भी खुशहाली आएगी। गायों के रखरखाव को लेकर शासन द्वारा प्रति लाभार्थी को हर माह नौ सौ रुपए की धनराशि भी दी जाएगी।

मुख्य विकास अधिकारी केके वैश्य ने भी ग्रामीणों को गाय का महत्व बताते हुए कुपोषण को लेकर शासन द्वारा शुरू की गई मुहिम को सफल बनाने का आह्वान किया। पशुपालन विभाग के उपनिदेशक और जनपद की गौशालाओं के रखरखाव को लेकर नोडल अधिकारी बनाए गए डॉ.एसएस अली ने ग्रामीणों को पशुपालन विभाग की योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गाय के दूध से बच्चे तो सेहतमंद होंगे ही साथ ही किसानों को अन्ना प्रथा जैसी कुप्रथा से भी छुटकारा मिलने का रास्ता तैयार होगा।

जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरजीत सिंह ने बताया कि जनपद में कुपोषित बच्चों की संख्या 1053  है। जबकि 97 कुपोषित बच्चों के अभिभावकों ने गाय लेने की इच्छा जाहिर की थी। इसलिए सातों ब्लाकों ने इन कुपोषित बच्चों को   दुधारू गाय देने की शुरूआत की गई। उन्होंने कहा कि गर्भवती महिला या फिर रक्तल्पता (एनीमिया) का शिकार कोई भी व्यक्ति दुधारू गाय प्राप्त कर सकता है।खण्ड विकास अधिकारी कुरारा राम सिंह अहिरवार, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ.ए के यादव, पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ.अमिताभ सचान, डॉ.ब्रजेंद्र सिंह लोधी, प्रभारी सीडीपीओ कुरारा शशि प्रभा, मुख्य सेविका मीना ठाकुर, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रावेंद्र पाल मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages