हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर पर भी लगेंगे अंतरा इंजेक्शन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, September 17, 2020

हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर पर भी लगेंगे अंतरा इंजेक्शन

अभी तक सीएचसी-पीएचसी और जिला महिला अस्पताल में थी सुविधा

परिवार नियोजन सेवाओं को गांव तक ले जाने की तैयारी

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कोरोना संक्रमण के बाद से परिवार नियोजन कार्यक्रमों को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से अब स्वास्थ्य विभाग हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर पर भी अंतरा इंजेक्शन और छाया टेबलेट की सुविधा मुहैया कराने जा रहा है, ताकि इस संक्रमण काल में ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को नवीन गर्भनिरोधक इंजेक्शन और टेबलेट आसानी से उपलब्ध हो सकें। परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ.राम अवतार ने बताया कि अंतरा इंजेक्शन और छाया टेबलेट नवीन गर्भनिरोधक साधन हैं, जो महिलाओं के बीच काफी लोकप्रिय हुए है। अभी तक इनकी उपलब्धता सामुदायिक और कुछ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों तक थी, लेकिन इन दोनों साधनों के प्रति महिलाओं के बढ़ते विश्वास को देखते हुए इसे अब ग्रामीण स्तर तक ले जाया जा रहा है। जनपद के गांव स्तर पर स्थापित 42 हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर (स्वास्थ्य उपकेंद्र) में भी आसानी से अंतरा इंजेक्शन और छाया टेबलेट का वितरण कराया जाएगा , ताकि महिलाएं अनचाहे गर्भधारण से बच सकें। 

हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर निवादा में अंतरा इंजेक्शन लेने वाली महिलाएं रजिस्ट्रेशन कराते हुए। 

डॉ.रामअवतार ने बताया कि कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से जनपद में भी बड़ी संख्या में बाहर से मजदूरों और कामगारों की वापसी हुई है, जो काफी समय से घरों में रह रहे हैं। ऐसे में जनसंख्या बढ़ोत्तरी से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। लिहाजा ग्रामीण स्तर पर भी परिवार नियोजन से जुडे़ साधनों के प्रति जागरूकता उत्पन्न की जा रही है। अंतरा इंजेक्शन लगवाने वाली महिलाओं का अंतरा केयरलाइन 18001033044 में पंजीकरण हो जाएगा। जहां से समय-समय पर काउंसिलिंग होती रहेगी। इस टोल फ्री नंबर से महिलाएं बड़ी ही आसानी से अपने हर सवालों के जवाब घर बैठे ही ले सकती हैं। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के लिए प्रत्येक गुरुवार को सभी सीएचसी, पीएचसी और अब उपकेंद्रों व जिला महिला अस्पताल में अंतराल दिवस मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2019 में 1258 महिलाओं ने अंतरा इंजेक्शन और 1483 ने छाया टेबलेट को अपनाया था। इसी तरह इस वर्ष में अब तक 2114 महिलाएं अंतरा इंजेक्शन और 4771 ने छाया टेबलेट को ले चुकी हैं। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages