अब गांव-गांव सीएससी में होगा दिव्यांगों का रजिस्ट्रेशन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Tuesday, September 8, 2020

अब गांव-गांव सीएससी में होगा दिव्यांगों का रजिस्ट्रेशन

रजिस्टर्ड विकलांगों को एलिम्को से मिलेंगे कृत्रिम अंग 

हमीरपुर, महेश अवस्थी । दिव्यांग जनों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) व कमन सर्विस सेंटर (सीएससी) ने एक पहल की है। सुदूर ग्रामीण इलाकों में बसने वाले दिव्यांगजनों तक कृत्रिम अंग एवं उपकरण पहुंचाने के लिए सीएससी के साथ एक पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया है। इस प्रोजेक्ट के तहत दिव्यांगजन कामन सर्विस सेंटर पर जाकर कृत्रिम अंग व उपकरण के लिए अपना निशुल्क रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जिसके बाद एलिम्को द्वारा उन्हें कृत्रिम अंग उपकरण निशुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे। 

कमन सर्विस सेंटर के जिला महाप्रबंधक अमित कुमार सिंह व संजय वर्मा ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में बसने वाले दिव्यांगजनों को राहत पहुंचाने के लिए भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम व कमन सर्विस सेंटर ने एक पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत सबसे पहले यह सुविधा बिजनौर,  हमीरपुर, झांसी, संभल व शामली में शुरू की गई है। उन्होंने बताया कि इसके तहत कोई भी दिव्यांगजन सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया 40 प्रतिशत या उससे अधिक का दिव्यांगता प्रमाण पत्र जिले के किसी भी कमन

गांवों में खुले सीएससी सेंटर, जहां दिव्यांगों का नि:शुल्क रजिस्ट्रेशन होगा।

सर्विस सेंटर में आवेदन कर सकता है। इसके साथ ही प्रतिमाह 15000 या उससे कम आय का प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना जरूरी है। जिला प्रबंधक ने बताया कि ट्राई साइकिल, व्हीलचेयर, कान की मशीन व कृत्रिम अंगों के लिए कमन सर्विस सेंटर द्वारा प्राप्त आवेदनों पर दिव्यांग जनों को एलिम्को द्वारा उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की इस योजना में एक सबसे बड़ा फायदा यह है कि पहले दिव्यांगजन विभाग उपकरण योजना में आय प्रमाण पत्र 46000 से ज्यादा का मान्य नहीं होता था लेकिन इस योजना में अगर किसी की साल भर की आमदनी 180000 रुपए तक की भी है , तो भी वह इस योजना का लाभ उठा सकता है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages