लामबंद किसानों ने चकबंदी वापस किए जाने की मांग की - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Tuesday, September 8, 2020

लामबंद किसानों ने चकबंदी वापस किए जाने की मांग की

तरसूूमा गांव में ग्रामीण और किसानों ने आयोजित की बैठक 

चकबंदी कर्मचारी बैठक में नहीं हुए शामिल 

बदौसा, के एस दुबे । ग्राम पंचायत तरसूमा में चकबंदी वापसी को लेकर एक बैठक संपन्न हुई। इसमें सभी किसानों ने गांव में चकबंदी न कराने का निर्णय लिया। बैठक में चकबंदी कर्मी अनुपस्थित रहे। 

ग्रामीणों ने बताया कि नायब तहसीलदार चकबंदी ने मंगलवार को आने का वादा किया था, जिस पर सभी किसान प्राथमिक विद्यालय तरसूमा में जुटे थे। दो बजे दोपहर तक किसान वहां बैठे रहे लेकिन चकबंदी से कोई कर्मी नहीं

तरसूमा गांव में आयोजित बैठक में शामिल किसान

आया। वहां एकत्रित सभी किसानों ने निर्णय लिया है कि गांव की भौगोलिक स्थिति चकबंदी के अनुरूप नहीं है। यहां की नब्बे फीसदी भूमि उबड़ खाबड़ है। अकृषिक भूमि भी बहुतायत है, जिससे कोई भी किसान स्थानांतरण को तैयार नहीं हैं। किसानों का मानना है कि यदि चकबंदी हुई तो अधिकतर किसानों के मध्य विवाद की स्थिति तैयार हो जाएगी। उन्होंने इस आशय का एक प्रार्थना पत्र उप जिलाधिकारी अतर्रा को संयुक्त हस्ताक्षर युक्त दिया। इसमें गांव में चकबंदी न कराने का आग्रह किया गया है। बैठक में रामविलास, रामप्यारी, शकुंतला, माधुरी, भैयालाल, अखिलेश सहित सैकड़ों किसान उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages