आजमगढ़ जनपद में पंजीकृत फर्जी मुकदमों को वापस लिया जाये - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Wednesday, September 9, 2020

आजमगढ़ जनपद में पंजीकृत फर्जी मुकदमों को वापस लिया जाये

फतेहपुर, शमशाद खान । भीम आर्मी भारत एकता मिशन ने जनपद आजमगढ की पुलिस द्वारा बदले की भावना से पंजीकृत कराये गये मुकदमों को तत्काल वापस लिए जाने की मांग सम्बन्धी ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा है। ज्ञापन में मिशन के अलावा आजाद समाज पार्टी व भीम आर्मी ने अलग-अलग मांगे पूरी किये जाने की आवाज उठायी है। 

भीम आर्मी भारत एकता मिशन के जिलाध्यक्ष शिव कुमार के नेतृत्व में आधा दर्जन से अधिक पदाधिकारियों ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर आजमगढ पुलिस द्वारा दर्ज कराये गये फर्जी मुकदमों को बदले की भावना की संज्ञा दी। ज्ञापन में कहा गया कि आजमगढ के थाना तरवा अन्तर्गत ग्राम वासगांव के प्रधान सत्यमेव जयते की निर्मम हत्या 14 अगस्त को कर दी गयी थी। इस पर आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष 20 अगस्त को पीडित परिवार को सात्वना देने जा रहे थे तभी अतरौलिया टोल प्लाजा पर उन्हे गिरफ्तार कर लिया गया था। जबकि पूरा कार्यक्रम

कलेक्टेªट में प्रदर्शन करते भीम आर्मी के कार्यकर्ता।

शांतपूर्वक सम्पन्न हो गया था। इसके बावजूद राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत ग्यारह नेताओं पर विभिन्न धाराओं में अतरौलिया व तरवा थाने में मुकदमे पंजीकृत कर लिए गये थे। जिसमे छः सौ अज्ञात भीम आर्मी के साथियों पर संगीन धाराएं लगाई गयी थीं। इसके अलावा सैकडा मोटर साइकिल व दो दर्जन से अधिक साइकिलों को भी पुलिस ने सीज कर दिया था। तत्पश्चात 21 अगस्त को आजमगढ के एसएसपी से न्याय मांगने के लिए पदाधिकारी गये थे। इस पर बदले की भावना से एक पदाधिकारी सहित 14 पदाधिकारियों के विरूद्ध अलग-अलग तीन मुकदमे पंजीकृत करा दिये गये थे। उन्होने ज्ञापन के माध्यम से फर्जी मुकदमों को वापस लिये जाने, घटना की जांच कराकर दोषी पाये जाने पर अधिकारियों व पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने, मृतक प्रधान की 13 वर्ष की लडकी व आठ वर्ष के पुत्र का नवोदय विद्यालय में प्रवेश कराने, पत्नी को सुपरवाइजर की नौकरी देने, पांच एकड़ कृषि भूमि का पट्टा करने, चार बेटियों को शादी हेतु सहायता मुहैया कराने के अलावा स्मृति स्थल की मांग के साथ-साथ पचास लाख रूपये की सहायता देने सम्बन्धी डीएम को दिये गये ज्ञापन पर भी विचार करने की मांगे शामिल हैं। चेतावनी दी गयी कि यदि एक पखवारे के अन्दर शासन व प्रशासन मांगों को पूरा नही करती तो पूर्वांचल में व्यापक आंदोलन की रणनीति बनाई जायेगी। इस मौके पर विनोद गौतम, उपेन्द्र, शुभम, दिवाकर, मिथलेश कुमार, प्रदीप गौतम, प्रेमचन्द्र गौतम, सूरज जाटव, वली अंसारी आदि रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages