समाजसेवी एमपी जायसवाल की एक आवाज पर इकट्ठा हो जाता है बंदरों का हुजुम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Saturday, September 26, 2020

समाजसेवी एमपी जायसवाल की एक आवाज पर इकट्ठा हो जाता है बंदरों का हुजुम

कामतानाथ के दर्शन कर कामदगिरि की रोजाना लगाते हैं परिक्रमा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिले के समाजसेवी महेश प्रसाद जायसवाल ने टीम के साथ हमेशा की भांति इस बार भी शनिवार को धर्मनगरी के परिक्रमा मार्ग पर बेजुबान बन्दरों व गायों के मध्य कुन्तलों पूड़ी व मीठी रेवड़ी वितरित की। परिक्रमा मार्ग के दुकानदार बताते हैं कि समाजसेवी एमपी जायसवाल की एक आवाज पर सैकड़ों की तादाद में बंदर व गायें एकत्रित होकर भरपेट पूड़ी व मीठी रेवड़ी खाते हैं। कामदगिरि की परिक्रमा दौरान हुई मुलाकात में समाजसेवी श्री जायसवाल ने बताया कि वह वर्ष 1990 से शिवरामपुर स्थित लैना बाबा सरकार में वर्ष में दो बार भंडारे का

बंदरो को पूडी खिलाते समाजसेवी।

आयोजन करते हैं। जिसमे सैकड़ों की तादाद में लोग प्रसाद चखते हैं। बीते मार्च माह से कोरोना काल से बचाव को देखते हुए लॉकडाउन के दौरान परिक्रमा मार्ग में श्रद्धालुओं के न आने पर बन्दर व गायों के खाने-पीने आदि की व्यवस्था नही हो पायी। इस दौरान समाजसेवी एमपी जायसवाल अपनी टीम के साथ बेजुबान जानवर व बंदरों को लगातार पूड़ी, सब्जी, फल इत्यादि खिलाते रहे। शनिवार को बन्दरों के मध्य पूड़ी वितरण के दौरान व्यापार मंडल अध्यक्ष ओम केशरवानी, पप्पू जायसवाल, महेश जायसवाल, कमलेश, ओंकार सिंह, दीपू पटेल आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages