महिला अस्पताल आने वाले सभी मरीजों का हो एंटीजेन टेस्ट - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Tuesday, September 29, 2020

महिला अस्पताल आने वाले सभी मरीजों का हो एंटीजेन टेस्ट

कान्ट्रैक्ट ट्रेसिंग कराकर प्राथमिकता से कराएं जांच: अपर मुख्य सचिव 

प्रमुख सचिव नमामि गंगे व ग्रामीण जलापूर्ति जनपद के नोडल अधिकारी ने दिए निर्देश 

होम आईसोलेशन में रह रहे और मेडिकल कालेज में भर्ती मरीजों से फोन पर की बात 

बांदा, के एस दुबे । कोविड-19 मरीजों के सम्पर्क में आए व्यक्तियों की कान्ट्रैक्ट टेªसिंग सर्वोच्च प्राथमिकता पर कराकर उनके टेस्ट शीघ्र करायें जाएं जिससे कोविड-19 के संक्रमण को रोका जा सके। प्रमुख सचिव नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति उ0प्र0 शासन/बांदा जनपद के नोडल अधिकारी अनुराग श्रीवास्तव ने उपरोक्त निर्देश सर्किट हाउस सभागार में सम्पन्न बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि महिला अस्पताल में आने वाले सभी मरीजों का एन्टीजन टेस्ट कराया जाए।

सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक करते नोडल अधिकारी अनुराग श्रीवास्तव

प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि जनपद में एमआरआई सेन्टर को क्रियाशील कराने तथा मेडिकल कालेज में सीटी स्कैन उपलब्ध कराने के लिए उनके स्तर से प्रयास किया जायेगा। इससे चित्रकूटधाम मण्डल के मरीजों को कठिनाई न हो। उन्होंने प्रधानाचार्य मेडिकल कालेज को निर्देश दिये कि आरटीसीटी प्रयोगशाला को शीघ्र ठीक कराया जाए तथा शासन से उपलब्ध कराये गए 40 वेन्टीलेटर को भी शीघ्र क्रियाशील कराया जाए। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि आवश्यक सेवाओं से जुडे हुए अधिकारियों व कर्मचारियों को आइबरटिन उपलब्ध कराई जाए जिससे वे यथा संभव कोविड संक्रमण से बच सकें। 

प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने निर्देश दिये कि आक्सीजन की आपूर्ति लगातार बनाई रखी जाए जिससे मरीजों को किसी प्रकार की कठिनाई न हो तथा आक्सीजन प्लान्ट का कार्य प्राथमिकता पर प्रारंभ कराया जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों से प्रतिदिन फीड बैक लिया जाए तथा यदि किसी मरीज का स्वास्थ्य खराब हो रहा तो उसे अस्पताल में शीघ्र भर्ती कराया जाए। प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने बैठक के उपरान्त आवास विकास कालोनी स्थित कन्टेनमेन्ट जोन तथा जिला अस्पताल स्थित कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि कोविड से प्रभावित मरीजों को अन्य रोगियों से अलग रखा जाए। प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों तथा मेडिकल कालेज में भर्ती रोगियों से फोन पर वार्ता कर उनको प्राप्त चिकित्सा सुविधाओं की जानकारी की। कोविड मरीजों ने उपलब्ध करायी जा रही चिकित्सा सुविधाओं पर संतोष व्यक्त किया तथा कहा कि उन्हें किसी प्रकार की कठिनाई नही हो रही है। प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने महिला समूहों को के्रडिट कैम्प में 2.1 करोड़ रूपये का ऋण वितरित किया। उन्होंने महिला समूहों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे ऋण का उपयोग अपने उद्योग को आगे बढाने में करें जिससे उनके समूह की सदस्यों की आमदनी बढ सकेगी।

जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह ने प्रमुख सचिव को जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में 44 कन्टेनमेन्ट जोन है तथा सैम्पल कलेक्शन यूनिट लगातार कार्य कर रही हैं तथा अब तक 94000 सैम्पल लिये जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रह रहे रोगियों से प्रतिदिन फीड बैक लिया जा रहा है। बैठक में पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा, मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चन्द्र वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एनडी शर्मा, नगर मजिस्टेªट सुरेन्द्र सिंह, प्रधानाचार्य मेडिकल कालेज डा. मुकेश यादव, उपायुक्त एनआरएलएम केके पाण्डेय तथा सभी तहसीलों के उप जिलाधिकरी एवं सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages