सरकारी उपक्रमों के निजीकरण से बढ़ी बेरोजगारी, भुखमरी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, September 1, 2020

सरकारी उपक्रमों के निजीकरण से बढ़ी बेरोजगारी, भुखमरी

भाकपा ने प्रदर्शन कर राष्ट्रपति संबोधित सौपा 17 सूत्रीय ज्ञापन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने भारतीय खेत मजदूर यूनियन व अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रव्यापी आवाहन पर नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचे। यहां राष्ट्रपति संबोधित 17 सूत्रीय ज्ञापन एडीएम को सौपा है।

भाकपा के जिला सचिव का अमित यादव की अगुवाई में किसान, मजदूरों की ज्वलंत समस्याओं के समाधान को राष्ट्रीय आवाहन पर कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर कलेक्ट्रेट परिसर में केपी यादव की अध्यक्षता में सभा की।

प्रदर्शन करते भाकपाई।

इसके बाद राष्ट्रपति संबोधित सौपे गए ज्ञापन में कहा कि सरकार देश के सभी उपक्रमों को निजीकरण की ओर धकेल कर बेरोजगार, भुखमरी को बढ़ावा दिया है। प्रवासी मजदूरों को रोजगार नहीं मिल रहा है। सरकार को मनरेगा द्वारा सभी मजदूरों को जाबकार्ड जारी कर वर्षभर कार्य और छह सौ रुपए प्रतिदिन मजदूरी दे। मजदूरी कार्य न मिलने पर बेरोजगारी भत्ता, कोरोना महामारी से प्रभावित प्रति परिवार को साढ़े सात हजार रुपए कम से कम छह माह तक आर्थिक सहायता, परिवार के प्रति सदस्य को दस किग्रा राशन, किसान एवं कृषि संबंधी जनविरोधी अध्यादेश वापस लिया जाए। पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़े हुए दाम वापस लेकर जीएसटी के दायरे में लें। किसान आयोग व स्वामी नाथन की सिफारिश लागू हो। किसानों के समर्थन मूल्य बढ़ाएं। प्रदेश में बढते अपराध पर तत्काल अंकुश लगे। इस मौके पर का रविकरण, विनोद पाल, पुरुषोत्तम, शिवकुमार, राजेन्द्र कुमार, छोटा, श्रीकेशन, लल्लू, उमेश, रामचन्द्र, विनोद कुमार, शिवनरेश, बुद्धराज आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages