तीन सदस्यीय जाँच टीम ने भीमनगर में पकड़ा विकास कार्यों का फर्जीबाड़ा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Sunday, September 27, 2020

तीन सदस्यीय जाँच टीम ने भीमनगर में पकड़ा विकास कार्यों का फर्जीबाड़ा

ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव की मिलीभगत का हुआ भंडा फूटा

जांच में फंसी महिला ग्राम प्रधान पर गिर सकती कार्यवाही की गाज

माधौगढ़ (जालौन), अजय मिश्रा । माधौगढ़ विकास खंड के ग्राम भीमनगर (ऊंचा) में तीन सदस्यीय टीम ने जांच की जिसमें सहायक अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग भइया लाल, खंड विकास अधिकारी दीपक यादव और जिला कृषि अधिकारी उमराव यादव द्वारा गांव पहुंचकर की गयी है। जहां स्थलीय जांच में कई ऐसे मामले सच साबित हुये जिनकी शिकायत की गयी थी। जांच टीम ने कई ऐसे मामले भी पकड़े जिन्हें कागजों में कार्य करने में शामिल किया गया था लेकिन हकीकत में कोई कार्य ही नहीं कराया गया था।

स्थलीय निरीक्षण करती जांच टीम।

ग्राम पंचायत भीमनगर ऊंचा में ग्राम प्रधान उर्मिला देवी पत्नी महावीर प्रताप व सचिव की मिली भगत से विकास कार्यों में घोटाले की शिकायत गांव के ही 1 दर्जन से अधिक लोगों द्वारा जिला अधिकारी से की गयी थी। जिस पर जिलाधिकारी ने जांच के लिए टीम गठित की और जांच के आदेश दिए। जिस पर टीम गांव पहुंची और एक सामाजिक मीटिंग करते हुए ग्रामीणों से पूँछ तांछ की ग्रामीणों द्वारा जिन कार्यों में घोटाले की बात कही थी। उनमें बहुत से कार्य प्रधान द्वारा बताये अनुसार कराए ही नही गए है और न ही भुगतान कराया गया परन्तु कुछ ऐसे भी कार्य सामने आये है जो की पुराने कार्यों को मरम्मत करवा कर नए कार्यों में दिखा दिया गया और पैसे निकाल लिए गए है। जो भी कार्य प्रधान ने न कराने का दावा किया टीम द्वारा उनका विवरण कर सपथ पत्र देने की बात कही है। प्रधान द्वारा जो भी कार्य कराए जाने का दावा किया था टीम ने मौके और पहुँच कर जाँच  की और उनमें कुछ कमियां पायी गयी जो भी कार्य न कराया गया हो और पैसा निकाला गया हो वो पैसा बापिस लेने की बात कही गयी है। ऐसा ही एक कार्य सामने आया है। प्रधान द्वारा एक कार्य दिखाया गया था सोख्ता टैंक जो की सिर्फ कागजों में ही बनाया गया था हकीकत में वहां जाकर देखा गया तो वहाँ पूर्व प्रधान हरिशंकर ग्राम भीमनगर ऊंचा द्वारा कराया गया था। ऐसे ही एक नाली मरम्मत का कार्य दिखाया गया वह भी उसी प्रकार कागजों में ही दिखाई दिया। हकीकत में वहां पर कार्य नहीं हुआ। ग्रामीणों का आरोप था कि सफाई नहीं की जाती वैसा ही देखने को भी मिला है। हर तरफ गंदगी दिखाई दी टीम द्वारा प्रधान को सफाई कराने की हिदायद दी। इस पर प्रधान द्वारा कई प्रश्नों के उत्तर न दे सके। टीम ने ग्राम के विकास कार्यों की बारीकी से जांच की जिसमे कई कार्य सिर्फ कागजों में मौजूद मिले धरातल पर नहीं मिले जांच के दौरान घोटाला सामने आने की संभावना नजर आ रही है। प्रधान कई बिंदुओं पर फंसते नजर आ रहे है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages