प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेण्डर्स स्वनिधि योजना - शहरी पथ - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, September 10, 2020

प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेण्डर्स स्वनिधि योजना - शहरी पथ

विक्रेताओं के लिए उजाले की किरन 

हमीरपुर, महेश अवस्थी  । वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते जहां रेहड़ी, पटरी लगाने वाले छोटे कारोबारियों के सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया। देश के रेहड़ी-पटरी वालों और ठेले पर सामान बेचने वाले अपना जीवन यापन करने के लिए काम नहीं कर पा रहे थे। जिसकी वजह से उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड रहा था। इस समस्या को देखते हुए  प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि योजन शुरू की है । जिसमे रेहड़ी पटरी वालो को अपना काम दोबारा से शुरू करने के लिए सरकार द्वारा लोन मुहैया कराया जा रहा है। ताकि रेहड़ी पटरी वालो को आत्म निर्भर और सशक्त बनाया जा सके। प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना के जरिये गरीब लोगो की स्थिति में सुधार लाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री  ने भी बड़ी पहल की है। मुख्यमंत्री  ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि योजना के लक्ष्य को पूरा करने में किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाए। बैंकों को लोन मुहैया करने के लिए विशेष निर्देश दिए गए है।


स्वनिधि योजना में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के आस-पास सड़क पर माल बेचने वाले विक्रेताओं को इसमें लाभार्थी बनाया गया है। इस योजना में पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर सीधा 10 हजार रुपये तक की कार्यशील पूंजी ऋण का लाभ उठा सकते हैं। जिसे वे एक वर्ष में  मासिक किस्तों में चुका सकते हैं। इस योजना में 50 लाख से अधिक लोगो को लाभ पहुंचाया जायेगा।  लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसदी का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा।

  जनपद में शासन ने 6468 का लक्ष्य तय किया है। जबकि 3538  स्ट्रीट वेंडर पंजीकृत हैं । अभी तक 1263 स्ट्रीट वेंडर ने आवेदन किया जिसमे  151 लोगों को ऋण स्वीकृत भी हो चुका है। डूडा विभाग को सभी नगरीय निकायों में कैंप लगाकर आवेदन  पत्र लेने  तत्पश्चात आवेदन पत्रों को परीक्षण कराकर शीघ्र बैंकों से समन्वय स्थापित कर ऋण स्वीकृत कराने के निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा कि कोई भी पात्र व्यक्ति इस योजना से वंचित ना होने पाए।12 मासिक किस्तो में ऋण की अदायगी होगी । सरकार खेतिहर मजदूर, किसान, कारीगर, कुशल/अर्द्धकुशल श्रमिक, उद्योग-धंधों के लोगों, उद्यमी-व्यवसायी सबको सरकार आवश्यक सहायता कर रही है।

प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेण्डर्स आत्मनिर्भर निधि योजना से रेहड़ी पटरी वालों व छोटी-मोटी दुकान वालों को अपना कारोबार फिर से खड़ा करने के लिए भारत सरकार द्वारा यह योजना संचालित की गई है। जो लोेग पहले से वेंडिंग कर रहे है, वे वेंडर्स इस योजना से लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के अन्तर्गत लाभ लेने के लिए सर्वेक्षण सूची में नाम भी होना चाहिए । शासन द्वारा दिए गए निर्देश के क्रम में जनपद के  समस्त नगर निकायों द्वारा पटरी दुकानदारों का सर्वेक्षण कराते हुए उनका पंजीयन किया गया है। जिलाधिकारी ने समस्त नगरीय निकायों से चिन्हित कराकर पंजीकृत हजारों पथ विक्रेताओं की सूची शासन को उपलब्ध करा दी थी, जिसकी पोर्टल के माध्यम से हजारों शहरी पथ विक्रेताओं ने आनलाइन नगर निकायों, डूडा के माध्यम से आवेदन करते हुए इस योजना से लाभान्वित हो रहे हैं। प्रदेश सरकार आवेदन फार्म तथा संबंधित बैंक के बन्धक पत्र में भी आवश्यक सहयोग कर रही है, जिससे वेण्डर्स दैनिक कमाई करते हुए अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार ला सकें।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages