विश्वकर्मा श्रम सम्मान से पारम्परिक कारीगरों का होगा आर्थिक विकास - डी एम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, September 18, 2020

विश्वकर्मा श्रम सम्मान से पारम्परिक कारीगरों का होगा आर्थिक विकास - डी एम

हमीरपुर, महेश अवस्थी  । प्रशिक्षण प्राप्त कर अपना उद्यम, कारोबार स्थापित करने वाले अभ्यर्थियों को 10 हजार रू0 से लेकर 10 लाख रू0 तक की बैंकों के माध्यम से ऋण दिलाते हुए आर्थिक सहायता की जाती है। योगी सरकार इस योजना के अन्तर्गत हजारों लोगों को स्वयं का कारोबार स्थापित कराकर उन्हें आत्मनिर्भर बना रही है। जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने योजना के पात्र लाभार्थियों को चिन्हित कर उनको टूलकिट वितरित किये ।इस योजना में कुसमरा के मनोज को राजमिस्त्री , रमेडी के प्रमोद कुमार को बढ़ईगिरी , पौथिया के लालाराम को कुम्भकारी ,मुख्यालय के रहुनिया धर्मशाला निवासी मन्नालाल गुप्ता को हलवाईगिरी व कुरारा के विजयपाल को लोहारगिरी हेतु निःशुल्क टूलकिट का वितरण किया जा चुका है ।इन्हें 6 दिन की आवासीय व निःशुल्क प्रशिक्षण भी दिया गया है।


 मुद्रा योजना में जरूरतमंद लोगो को चिन्हित कर उन्हें स्वरोजगार हेतु बैंको के माध्यम से ऋण स्वीकृत कराया जा रहा है। 5 लाभार्थियों को अपना रोजगार खड़ा किये जाने हेतु 1-1 लाख का ऋण स्वीकृत कराया गया है ।  इसमे रानी लक्ष्मी बाई पार्क की लक्ष्मी , पटकाना की सजल श्रीवास्तव व कुरारा की हीराबाई को अपना -,अपना ब्यूटीपार्लर संचालन हेतु , खरौज के इमरान को बिल्डिंग कारोबार  तथा कुरारा के धर्मेंद्र को होटल संचालन हेतु 1-1 लाख का ऋण स्वीकृत कराया गया है। अब ये सभी लोग इस सहायता से अपना स्वयं का कारोबार खड़ा कर सकेंगे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages