लापरवाह विभागों पर करें कार्यवाही: डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, September 14, 2020

लापरवाह विभागों पर करें कार्यवाही: डीएम

परियोजना प्रबंधक जल निगम के खिलाफ शासन को पत्र भेजने के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री के भ्रमण के दौरान दिए गए निर्देशों के परिपालन के संबंध में समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि लगभग एक वर्ष बीत रहा है, लेकिन अभी कुछ विभाग कार्यों पर तेजी नहीं कर सके। मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि संबंधित विभागों के अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही कराएं। उन्होंने कहा कि चित्रकूट के सड़कों का गड्ढा मुक्त कराया गया था। जिसकी जांच जिन समितियों ने अभी तक रिपोर्ट उपलब्ध नहीं कराई है वह  तत्काल उपलब्ध करा दें। राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो ड्रेनेज का कार्य कराया जाना है वह समय सीमा के अंदर पूर्ण कराएं। पटेल तिराहा से बेड़ी पुलिया तक जहां पानी सड़क के किनारे भरता है उसे अस्थाई व्यवस्था कर निकासी की व्यवस्था एक सप्ताह के

बैठक में निर्देश देते डीएम।

अंदर कराएं तथा पटेल तिराहे पर रंबल स्टेप भी बनाया जाए। परिक्रमा पथ व तीर्थ क्षेत्र में बंद विद्युत केबिल डालने पर जो विद्युत विभाग द्वारा कार्य कराए गए हैं उनकी तकनीकी जांच कराई जाए। उन्होंने अधिशासी अभियंता विद्युत से कहा कि सीतापुर से खोही लक्ष्मण पहाड़ी व शिवरामपुर से रामसैया खोही तक भी बंद केबिल का प्रस्ताव शासन को भेजें। मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि अर्थ एवं संख्या अधिकारी के द्वारा समय से सूचना नहीं प्रेषित की जा रही। अपने स्तर पर समीक्षा करें। उन्होंने पर्यटन अधिकारी शक्ति सिंह को निर्देश दिए कि चित्रकूट तीर्थ क्षेत्र के साथ पर्यटन की दृष्टि से मानिकपुर क्षेत्र में भी लोगों को प्रेरित कर पर्यटन हब बनाया जाए। वहां पर पर्यटन की दृष्टि से अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा भारतकूप व रामसैयां आदि पर भी जमीन चिन्हित करके होटल लाज बनाने वाले लोगों से संपर्क कर स्थापित कराए। बाल्मीकि आश्रम तथा राजापुर तीर्थ क्षेत्र में भी विकास कार्य कराए जाएं। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि जो वन चेतना केंद्र लक्ष्मण पहाड़ी के पास स्थापित है उसका सौंदर्यीकरण हो। लक्ष्मण पहाड़ी रोपवे के बगल में औषधि के जो वृक्ष लगाए जाने थे उनको भी स्थापित करें। अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी को निर्देश दिया कि नगर निगम के संबंध में सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। चित्रकूट तीर्थ क्षेत्र में साफ सफाई लगातार जारी रहे। सीतापुर सींवर ट्रीटमेंट प्लांट पूर्ण रूप से चालू नहीं है। इसमें कमेटी बनाकर दो दिन के अंदर जांच कराकर रिपोर्ट उपलब्ध कराएं। परियोजना प्रबंधक जल निगम की भूमिका के बारे में इनके खिलाफ कार्यवाही के लिए शासन को पत्र भी भेजें। जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी कर्वी को निर्देश दिए की पार्किंग के लिए सीतापुर से खोही के बीच शासकीय भूमि का चिन्हांकन करें। अखाड़ा व ट्रस्ट के लोगों से भी जमीन के बारे में वार्ता की जाए। उन्होंने कहा कि परिक्रमा मार्ग के अतिक्रमण को अमावस्या मेला के बाद सभी लोगों का चिन्हीकरण कर परिक्रमा मार्ग चैड़ीकरण तत्काल कराया जाए। अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देश दिए कि मंदाकिनी पुनर्जीवित के कार्यों पर तेजी लाएं। निरंतर मंदाकिनी नदी की साफ-सफाई बनी रहे। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, उप जिलाधिकारी कर्वी राम प्रकाश, डीसी एनआरएलएम राम उदरेज यादव सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages