पाइप लाइन क्षतिग्रस्त, पेयजल के लिए हाहाकार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, September 13, 2020

पाइप लाइन क्षतिग्रस्त, पेयजल के लिए हाहाकार

अधिकारियों पर उपभोक्ताओं ने लगाए लापरवाही के आरोप

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। तुलसी जन्मस्थली राजापुर व ग्रामीण क्षेत्रों में जल संस्थान द्वारा की जा रही पेयजल व्यवस्था पूर्णरूपेण धड़ाम हो चुकी है। जिससे पेयजल के लिए हाहाकार मचा हुआ है। जेई सहित अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। 

राजापुर जल संस्थान लगभग सात गाँवों को पेयजल की आपूर्ति करता है। जिसमें बेराऊर, चिल्ली राकस, पाण्डेय पुरवा, केवटन पुरवा, भभेंट, खटवारा आदि गाँवों में आपूर्ति की जाती है, लेकिन लगभग 15 दिन पहले जल संस्थान की कस्बे सहित ग्रामीण क्षेत्रों की पाइप लाइन टूट जाने से सड़कों में पानी भर जाता है और लोगों को आवागमन में भारी किल्लत का सामना तो करना ही पड़ता है, पेयजल भी नहीं मिल रहा। देहात क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेराऊर के प्रधान धीरेन्द्र सिंह व चिल्ली राकस के प्रधान सन्तोष कुमार यादव ने आरोप लगाते हुए बताया कि लगभग एक वर्ष से ग्रामीण क्षेत्रों में जल संस्थान के द्वारा पानी की सप्लाई सही ढंग से नहीं मिल रही है। जबकि हर छह महीने में बिल का भुगतान ले लिया जाता है। टूटी हुई पाइप लाइनों के लिए कई बार जल संस्थान राजापुर

टूटे पाइप लाइन से सड़क पर जल भराव।

के कार्यालय में अवगत कराया गया है, लेकिन आज तक मरम्मत नहीं कराई गई। कार्यालय में ग्रामीण क्षेत्र के लोग शिकायत लेकर जाते हैं तो पता चलता है कि जेई जल संस्थान रवि कुमार कर्वी मुख्यालय में आवास बनाकर रहते हैं। महज चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के भरोसे चल रहा है। जेई को फोन लगाने पर कोई जवाब नहीं मिलता। राजापुर कस्बे के भाजपा के मण्डल रामनगर उपाध्यक्ष अशोक द्विवेदी ने बताया कि राजापुर के 12 वार्डों में पेयजल की भयंकर समस्या उत्पन्न हो गई है। अंजहाई मोहल्ले के राकेश पाण्डेय के दरवाजे के सामने जल संस्थान द्वारा डाली गई पाइप लाइन लगभग एक माह से टूट गई है। जिसके कारण पूरे अंजहाई मोहल्ले में पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही है और लोग यमुना के प्रदूषित जल को पीने के लिए मजबूर हो रहे हैं। जिसकी शिकायत अधिशाषी अभियन्ता जल संस्थान को फोन के माध्यम से दी गई थी। एक माह बीत जाने के बावजूद भी टूटी पाइप लाइन की मरम्मत नहीं कराई गई। इसी प्रकार सोनरहटी मोहल्ला, गयागंज, माधवगंज, गुर्रा मन्दिर रोड तिराहा, हनुमानगंज तथा शिक्षक पुरम आदि  मोहल्लों की पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हैं। पेयजल की भारी किल्लत देखने को मिल रही है। इस संबंध में जल संस्थान के जेई का कहना है कि टूटी हुई पाइप लाइनों को जल्द ही दुरुस्त करा दिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों के रामनरेश सिंह, शिवशंकर सिंह, कमलेश कुमार, रत्नेश तथा नगर के सन्तोष कुमार सोनी, सोमनाथ अग्रवाल, संत कुमार गुप्ता, अजय मोदनवाल, रमन मोदनवाल आदि उपभोक्ताओं ने जिलाधिकारी से मांग किया है कि समस्या का निदान कराया जाए।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages