खाद संकट पर बुंकियू का हल्ला बोल, सरकार विरोधी नारेबाजी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Advt.

Saturday, September 12, 2020

खाद संकट पर बुंकियू का हल्ला बोल, सरकार विरोधी नारेबाजी

खाद के लिए भटक रहा है किसान, कालाबाजारी पर लगाई जाए रोक 

मांग पूरी न हुई तो किसान संगठन ने दी आंदोलन की चेतावनी 

बांदा, के एस दुबे । यूरिया खाद को लेकर पूरे जिले में अन्नदाता दर-दर की ठोकरें खा रहा है। अधिकारी हैं तो सिर्फ दावा ही करते नजर आ रहे हैं। ऐसे में बुंदेलखंड किसान यूनियन ने अन्नदाता की समस्या को मुद्दा बनाते हुए शनिवार को जिले की सभी तहसीलों में विरोध प्रदर्शन किया। मुख्यालय में बुंकियू पदाधिकारियों ने अशोक स्तंभ तले धरना दिया और सरकार विरोधी नारेबाजी की। किसान नेताओं का कहना है कि अगर खाद संकट दूर नहीं किया गया तो किसान संगठन आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा। 

अशोक स्तंभ तले धरने पर बैठे बुंकियू पदाधिकारीगण

शनिवार को बुंदेलखंड किसान यूनियन पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने बांदा सदर समेत नरैनी, अतर्रा, बबेरू और पैलानी तहसील मुख्यालयों में खाद संकट के मुद्दे पर विरोध-प्रदर्शन करते हुए धरना दिया। सदर तहसील क्षेत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल कुमार पांडेय की अगुवाई में स्वतंत्रता स्मारक अशोक लाट में धरना दिया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि खाद की किल्लत से पूरे जिले का किसान परेशान है। खाद के संकट से अन्नदाता त्राहि-त्राहि कर रहा है। सरकारी और निजी खाद बिक्री केंद्रों में कालाबाजारी जोरों पर है। खाद न मिलने से किसानों की फसल पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। प्रशासनिक अफसर भी खाद की कालाबाजारी पर अंकुश लगाने में नाकाम हैं। मुठ्ठी भर खाद के लिए किसान आए दिन सड़कों पर उतर कर खाद संकट पर लगातार ध्यान आकृष्ट करा रहे हैं। बावजूद इसके प्रशासनिक अफसरों के कानों में जूं नहीं रेंग रही। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सहकारी समितियों और डीलरों की जांच कराकर कालाबाजारी पर अंकुश लगाने की मांग की। चेतावनी दी कि शीघ्रता से इस पर अंकुश नहीं लगा तो संगठन जन आंदोलन शुरू करेगी। कहा कि अन्ना मवेशी किसानों के दुश्मन बने हैं। सिर्फ कागजी आंकड़ों में पूरे जिले में पशु आश्रय केंद्र संचालित दर्शाए जा रहे हैं। जबकि हकीकत में अन्ना मवेशियों के झुंड सड़कों और खेतों में घूमते नजर आ रहे हैं। गो आश्रय केंद्र सूने पड़े हैं। इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत ललित यादव, अंकित ठाकुर, गणेश प्रसाद, दीपक, अनिल सिंह, दीपक द्विवेदी, राजाभइया, सूरज सिंह दिनकर, रामू पाठक, उमादत्त शुक्ला, अतुल कुमार द्विवेदी, प्रकाश सिंह, युवराज सिंह आदि उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages