दो कोरोना पाजिटिव बंदी अस्पताल से फरार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, September 10, 2020

दो कोरोना पाजिटिव बंदी अस्पताल से फरार

सामूहिक दुष्कर्म के हैं आरोपी

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । सामूहिक दुष्कर्म मामले में पकड़े गए दो कारोना बंदी गुरुवार की सुबह मुख्यालय के खोह स्थित कोविड अस्पताल के बाथरूम की खिड़की तोड़कर फरार हो गए। सुरक्षा कर्मियों को इसकी भनक तक नहीं लगी। बंदियों के फरार होने की जानकारी होते पुलिस व स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया। कोरोना पाजिटिव होने के चलते भागने पर भय का माहौल है। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने मौके पर पहुंचकर जायजा लिया है। फरार बंदियों को पकड़ने के लिए दो पुलिस टीमें गठित की है। जेल अधीक्षक श्रीप्रकाश त्रिपाठी भी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी आला अधिकारियों को दी है। 

फरार कोरोना पाजिटिव बंदी।

रैपुरा थाना क्षेत्र की एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी इटवा गांव निवासी बृजलाल पुत्र चमोल व खण्डेहा थाना मऊ निवासी रज्जू यादव पुत्र फूलचन्द्र को दो सितम्बर को जिला जेल में कोविड 19 को बने अस्थाई कारागार में बंद किया गया था। जेल अधीक्षक ने बताया कि सात सितम्बर को कोविड जांच में पाजिटिव होने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने खोह स्थित कोविड अस्पताल में भर्ती कराया था। बंदियों की सुरक्षा में सिपाही आशीष कुमार, दीपक कुमार, विजयलाल व होमगार्ड जयनारायण को तैनात किया था। सीएमओ डा विनोद कुमार ने बताया कि गुरुवार की सुबह लगभग पांच बजे अस्पताल से सूचना मिली कि दो कोरोना मरीज बाथरूम की खिड़की की जाली तोडकर फरार हो गए हैं। जिसकी जानकारी तत्काल पुलिस अधिकारियों को दी गई। घटना से हड़कंप मच गया। एसपी अंकित  मित्तल पुलिस बल के साथ पहुंचे और मामले की जानकारी की। दो टीमें गठित कर फरार बंदियों की तलाश के निर्देश दिए हैं। ड्यूटी में तैनात सुरक्षा कर्मियों के लापरवाही की भी जांच की जा रही है। कोरोना पाजिटिव होने के चलते आसपास के इलाकों में जागरुकता फैलाई जाए कि कोरोना पाजिटिव होने के चलते बंदियों को शरण न दें। जल्द ही दोनो को पकड़ा जाएगा। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages